Loading...

आर्मी चीफ ने आतंकियों को दी कड़ी चेतावनी- कश्मीर में बंदूक उठाने वाले सीधा जाएंगे कब्र में

0 8

कारगिल विजय दिवस की 20वीं वर्षगांठ के मौके पर आर्मी चीफ बिपिन रावत ने यह साफ कर दिया कि घाटी में जो भी बंदूक उठाएगा, वह कब्र में जाएगा. द्रास स्थित कारगिल वॉर मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान चीफ बिपिन रावत ने मीडिया से बातचीत की, जहां उन्होंने अपनी राय दी. रावत ने यह साफ कर दिया है कि कश्मीर में आतंकवाद को कुचलने का सेना का कड़ा रुख आगे भी जारी रहेगा.

बिपिन रावत ने कहा- सुरक्षा बलों के खिलाफ जो कोई भी स्थानीय आतंकी बंदूक उठा रहा है, वह आतंकवादी नहीं रहेगा. सेना के खिलाफ बंदूक उठाने वाला कोई भी आतंकवादी नहीं रह पाएगा. बंदूक और उस शख्स के साथ अलग अलग बर्ताव किया जाएगा. वह शख्स कब्र में जाएगा और बंदूक हमारे पास आएगी.

जनरल रावत ने आगे कहा कि हम सिविल सोसायटी, अभिभावकों, मौलवियों और आतंकवादियों के भाई-बहनों से संपर्क कर रहे हैं कि वह उनसे कहें कि यह रास्ता गलत है, इस पर आगे ना बढ़े. मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि उनके घरवालों ने उन्हें पीएचडी आतंकी बनने के लिए नहीं करवाई है. उन्होंने अपने बच्चों को पीएचडी या ग्रेजुएशन इस उम्मीद में करवाई, ताकि वे बुढ़ापे में उनका ख्याल रख सके. लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है.

इस कार्यक्रम में जनरल रावत के अलावा चीफ ऑफ एयर स्टाफ एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ और चीफ ऑफ नेवल स्टाफ एडमिरल करमबीर सिंह भी मौजूद थे. तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने यहां कारगिल में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी.

Loading...

जनरल रावत ने कारगिल विजय दिवस को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि पाकिस्तान की ओर से कश्मीर मुद्दे को जिंदा रखने को लेकर अभी भी कोशिशें जारी हैं. जंग की चुनौतियों पर उन्होंने कहा कि अगर हमारे पास खाना ना हो तब भी हमारे जवान जंग लड़ने में सक्षम हैं. उन्हें केवल अच्छे हथियार, गोला-बारूद और उपकरणों की जरूरत है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.