Loading...

अरुण का गेंदबाजी कोच बने रहना लगभग तय, जबकि बैटिंग कोच संजय बांगड़ की हो सकती है छुट्टी

0 5

भारतीय टीम के मौजूदा गेंदबाजी कोच भरत अरुण का उनके पद पर बना रहना लगभग तय माना जा रहा है, तो वही आर. श्रीधर के भी अपने पद पर बने रहने की पूरी उम्मीद है. हालांकि फील्डिंग कोच पद के लिए दक्षिण अफ्रीकी जोंटी रोड्स समेत कई दावेदार है. लेकिन भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ को उनके पद से हटाया जा सकता है.

बता दें कि भारतीय टीम के कोच और सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल विश्व कप के बाद खत्म हो गया. लेकिन वेस्टइंडीज दौरे के लिए इनका कार्यकाल बढ़ा दिया गया. भारतीय टीम के कोच और सपोर्ट स्टाफ के लिए बीसीसीआई ने आवेदन जारी कर दिए हैं. नए सिरे से साक्षात्कार होंगे और सभी पदों के लिए नियुक्ति होगी. भारतीय टीम का मुख्य कोच चुनने का निर्णय कपिल देव की अध्यक्षता वाली क्रिकेट सलाहकार समिति को होगा.

करीबी सूत्रों के मुताबिक, भरत अरुण का भारतीय टीम का गेंदबाजी कोच लगभग तय माना जा रहा है, क्योंकि उनकी कोचिंग में भारतीय टीम ने गेंदबाजी में अच्छा प्रदर्शन किया है. बोर्ड के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि पिछले 18 महीनों में अरुण ने बहुत ही बेहतरीन काम किया है. मोहम्मद शमी और बुमराह जैसे खिलाड़ी जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसका श्रेय अरुण को ही जाता है. इसलिए चयनकर्ता उनकी जगह शायद ही किसी और को पद पर नियुक्त करें.

Loading...

लेकिन संजय बांगढ़ के बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता. वे 4 साल तक भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच रहे. लेकिन अभी भी भारतीय टीम का मध्यक्रम कमजोर है. रोहित शर्मा और विराट कोहली संजय बांगढ़ के आने से पहले भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे. ऐसे में उनकी सफलता में बांगड़ का कोई योगदान नहीं है. उनको भारतीय टीम के मध्यक्रम को मजबूत बनाना था. लेकिन वह इसमें नाकामयाब रहे. तीनों विशेषज्ञों में अरुण का पद पर बने रहना तय है और श्रीधर भी भारतीय चयनकर्ताओं की पसंद हो सकते हैं. हालांकि उनको जोंटी रोड्स से कड़ी चुनौती मिल सकती है, क्योंकि जोंटी रोड्स बहुत ही बेहतरीन फील्डर रहे हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.