Loading...

रेल में कर सकते हैं मुफ्त यात्रा, टिकट पर मिलती है 100 फीसदी तक की छूट, क्या आप जानते हैं ये नियम

0 25

भारतीय रेलवे ने पिछले कुछ समय मे काफी बदलाव किए हैं जिसके कारण यात्रियों को कई तरह की नई सुविधाओं का लाभ मिला है. वैसे ये शायद कम लोगों को पता होगा कि रेलवे यात्रियों की सुविधा के अनुसार किराया भी निर्धारित करती है. जी हां, दरअसल इसमें बच्चों से लेकर बुजुर्गों के लिए टिकट में अलग-अलग छूट का प्रावधान है.

मालूम हो कि रेलवे ने कुछ विशेष केटेगरी के लोगों के लिए किराए में 100 % कर छूट देने का प्रावधान किया है यानि बिना एक भी रुपया खर्च किए बिना आप अपनी मंजिल तक की यात्रा कर सकते हैं. वैसे ऐसा भी देखा गया है कि यात्रा के दौरान अक्सर लोग कंफ्यूज रहते हैं कि बच्चों का टिकट लेना भी है या नहीं अगर टिकट खरीदना है तो पूरा या आधा.

दरअसल ऐसी स्थिति में नियमों की जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है ताकि परेशानियों से बचा जा सके. आपको बता दें कि 5 साल से कम आयु के बच्चों के लिए टिकट की जरूरत नहीं होती है. हालांकि अगर बच्चे की उम्र 5 से 12 साल के बीच है तो उसका टिकट आधा लगता है.

वहीं 12 साल से ज्याद उम्र के बच्चों के लिए पूरा किराया देना होगा. लेकिन 5-12 साल के बच्चे के लिए बर्थ रिजर्व हो तो टिकट का पूरा पैसा आपको भरना होगा.

Loading...

बता दें कि रेलवे वरिष्ठ नागरिकों और बच्चों के अलावा कई अन्य श्रेणी के लोगों को भी किराये में छूट देता है. जी हां, दरअसल रेलवे ने एक स्पेशल कैटेगरी निर्धारित की है जिसमें 13 तरह के लोग आते हैं.

मालूम हो कि इन लोगों को 100 % तक टिकट किराये में छूट मिलती है. इस श्रेणी में वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग, गंभीर बीमार, किन्नर सहित अन्य को टिकट पर छूट दी जाती है.

सिर्फ यही नहीं, रेलवे ने गंभीर बीमार व्यक्तियों के लिए विशेष सुविधा दी है. जी हां, दरअसल कैंसर से पीड़ित व्यक्ति और उसके साथ जाने वाले एक आदमी को टिकट पर 50 से 100 % तक छूट मिलती है.

आपको बता दें कि कैंसर पेशेंट को फर्स्ट क्लास और एसी चेयर कार में 75 %, स्लीपर और थर्ड एसी में 100 % छूट मिलती है जबकि फर्स्ट और सेकंड क्लास एसी में 50 % छूट मिलती है. इसके अलावा किन्नरों को भी किराए में 40 % तक की छूट मिलती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.