Loading...

पैन कार्ड को लेकर अगर आपने भी कि ये बड़ी गलती तो हो जाइए सतर्क, वरना लग सकता है 10 हजार रु का जुर्माना

0 47

हम सभी जानते हैं कि पैन कार्ड कितना आवश्यक है। बता दें कि पैन कार्ड हर जगह काम आता है और आपकी एक लीगल पहचान देने में मदद करता है। दरअसल पर्मानेंट अकाउंट नंबर एक 10 डिजिट का अल्फान्यूमेरिक आईडी है जो कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से जारी की जाती है।

वैसे अगर आपके पास 2 पैन कार्ड हैं, तो आज ही इस सरेंडर कर दें. अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आयकर विभाग आपसे 10 हजार रुपए वसूली करेगा. यही नहीं, इसके साथ ही 2 पैन कार्ड रखने वालों के खिलाफ आयकर अधिनियम 1961 की धारा 272 के तहत कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी.

मालूम हो कि आयकर विभाग द्वारा ये कार्रवाई कालेधन पर लगाम कसने और पैन कार्ड धारकों का रिकॉर्ड सही रखने के लिए की जा रही है. बता दें कि इसके लिए आयकर सभी के पैन कार्ड जांच कर रही है.

दरअसल आयकर अधिकारी ने कहा कि, “बता दें कि पैन एक यूनीक नंबर होता है. इस तरह से 2 लोग या 2 कंपनियों के पैन समान नहीं हो सकते हैं. मालूम हो कि उसी तरह एक ही शख्स या कंपनी दो पैन नहीं रख सकते.

Loading...

वहीं अगर गलती से 2 पैन बन गए हैं तो उसे सरेंडर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन किया जा सकता है. मालूम हो कि सरेंडर करने, नाम सुधार या एड्रेस चेंज जैसे बदलावों के लिए फार्म समान होते हैं.”

बता दें कि अगर आप इसे सरेंडर करना चाहते हैं, तो आपको नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड यानी कि एनएसडीएल की वेबसाइट पर जाना होगा. इसके बाद आपको यहां नए पैन के लिए अप्लाई करने वाले लिंक पर फॉर्म भरना होगा. फिर इसके बाद जो पैन कार्ड आप जारी रखना चाहते हैं, उसे फॉर्म में उसे सबसे ऊपर अंकित करें.

मालूम हो कि इसके साथ ही दूसरे पैन की जानकारी फॉर्म के कॉलम नंबर 11 में भर दें. बता दें कि इसके साथ ही आपको जिस पैन कार्ड को रद्द करना है, उसकी कॉपी फॉर्म के साथ लगा दें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.