Loading...

पाकिस्तान के हाल हुए बेहाल, 50 फीसदी से ज्यादा परिवारों को नसीब नहीं है दो वक्त की रोटी

0 17

पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति बहुत ही ज्यादा खराब है। पाकिस्तान में रहने वाले आधे से अधिक परिवारो को गरीबी के चलते दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं है, जिस कारण बच्चे अधिक संख्या में कुपोषण का शिकार हो रहे हैं। शुक्रवार के दिन पाकिस्तान में इसको लेकर एक सर्वे हुआ जिससे यह जानकारी मिली। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार राष्ट्रीय पोषण सर्वेक्षण 2018 की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में आधे से ज्यादा परिवार इतने गरीब है कि उनको दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो पा रही है।

पाकिस्तान में 40.2% बच्चे कुपोषण और अवरुद्ध विकास की समस्या से जूझ रहे हैं, जबकि 36.9% परिवारों को जरूरी मात्रा में पोषक तत्व वाले भोजन नहीं मिल पा रहे हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए पाकिस्तान की सरकार पहली बार फूड फोर्टिफिकेशन बिल लेकर आ रही है, जिसकी जानकारी पाकिस्तान पीडियाट्रिक असोसिएशन (PPA) के सेक्रेटरी जनरल डॉक्टर खालिद खफी ने दी।

उनका कहना है कि इस बिल के पास होने के बाद आटा और घी जैसे बुनियादी राशन में सूक्ष्म पोषक तत्व मिलाने का प्रावधान होगा। बता दें कि यह पाकिस्तान के इतिहास में अपने किस्म का सबसे बड़ा सर्वे रहा, जिसमें ग्रामीण और शहरी दोनों आबादी शामिल हैं।

इस अध्ययन में पाकिस्तान के लगभग 115600 परिवारों की 145324 महिलाएं एवं 5 साल से कम उम्र वाले 76742 बच्चों को शामिल किया गया। अध्ययन करने वाली टीमों ने ब्लड और यूरिन सैंपल लेकर अध्ययन किया। इसके अलावा इन परिवारों के घरों की पानी की गुणवत्ता और सीवर की व्यवस्था का भी जायजा लिया गया एवं शैक्षिक योग्यता और अन्य तरह की अहम जानकारियों की सूची तैयार की गई।

Loading...

पाकिस्तान में भले ही नहीं सरकार बन गई हो। लेकिन महंगाई, गरीबी जैसी मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं। अर्थशास्त्रियों का यह कहना है कि महंगाई बढ़ने की वजह से आम लोगों को दैनिक इस्तेमाल की चीजें नहीं मिल पा रही हैं। यह देश पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मदद पर निर्भर है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.