Loading...

जानिए PF खाते के इन 5 बड़े फायदों के बारे में, जो मिलेंगे जीवन के साथ भी और जीवन के बाद भी

0 37

ये तो आप जानते ही होंगे कि प्रॉविडेंट फंड (PF) किसी भी व्‍यक्ति के बाद रिटायरमेंट बाद जीवन की पूंजी होता है. दरअसल EPF सभी सैलरी पाने वाले कर्मचारियों के लिए ईपीएफओ की तरफ से चलाई जाने वाली रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है. आपको बता दें कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन 20 या उससे अधिक कर्मचारी वाले संस्थानों के कर्मचारियों को पीएफ में निवेश की अनुमित देता है.

दरअसल EPF स्कीम के तहत एक कर्मचारी को अपनी बेसिक सैलरी का 12 % इसमें योगदान करना होता है, इसी के साथ नियोक्ता की तरफ से भी उतना ही योगदान दिया जाता है.

हालांकि आप चाहें तो अपने EPF खाते में योगदान बढ़ा भी सकते हैं. यानि आपकी सैलरी से जो अनिवार्य 12% हिस्‍सा EPF खाते में जाता है, उसमें आप स्‍वैच्छिक तौर पर और 12% की बढ़ोतरी कर सकते हैं. मतलब यह कि अगर आपका वेतन 15 हजार रुपए है तो आपका इम्‍प्‍लॉयर 1250 रुपए की कटौती कर उसे आपके EPF खाते में जमा कर देगा.

दरअसल आपको बता दें कि टैक्‍स एक्‍सपर्ट के अनुसार लेकिन यहां आप स्‍वैच्छिक तौर पर और 1250 रुपए अपने वेतन में से हर महीने कटवा सकते हैं. बता दें कि इससे EPF खाते में जमा होने वाली रकम दोगुनी हो जाएगी, जिसका असर रिटायरमेंट बाद आपकी पेंशन पर पड़ेगा.

Loading...

EPF खाते के हैं ये सारे फायदे

आपको बता दें कि कर्मचारी पेंशन योजना के अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों को EPFO ये 5 बेहद ही खास तरह की सहूलियत देता है:

1. खाताधारक और पत्‍नी को पेंशन :

मालूम हो कि पत्नी को पेंशन 58 साल की उम्र से मिलना शुरू हो जाती है.

2. विधवा पेंशन

आपको बता दें कि यदि EPF खाताधारक की मृत्‍यु हो जाती है तो उसकी विधवा पत्‍नी को आजीवन पेंशन मिलेगी. हालांकि, यहां एक बात ध्यान देने वाली है और वो ये अगर वह दूसरा विवाह कर लेती है तो उसको पेंशन मिलना बंद हो जाएगी. यही नहीं, इसके साथ ही 2 बच्‍चों को पेंशन का 25% अतिरिक्‍त मिलता है.

3. अनाथ को भी मिलेगी पेंशन

जानकारी के लिए बता दें कि अगर PF खाताधारक की पत्‍नी नहीं है तो 2 बच्‍चों को पेंशन मिलने का प्रावधान है. दरअसल बच्चों को 25 साल की उम्र तक तय पेंशन का 75% हिस्‍सा मिलेगा.

4. डिसेबिलिटी होने पर

मालूम हो कि अगर कोई EPS खाताधारक दिव्‍यांग यानी कि डिसेबिलिटी का शिकार हो जाता है तो उसे आजीवन पेंशन मिलेगी.

5. अर्ली पेंशन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोई भी EPS खाताधारक जब 50 वर्ष पूरा कर लेता है तो इसके बाद वो अर्ली पेंशन की अर्जी दे सकता है. हालांकि ये शर्त सहित मिलेगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.