Loading...

अफसर को महंगी पड़ गई दूसरी शादी, कोर्ट ने कहा- दो हफ्ते में पत्नी को 50 लाख दो, दूसरी भी पहली को 10 लाख दे

0 111

बिहार से एक रोचक खबर आई है। जी हां, दरअसल पटना हाईकोर्ट ने आईआरएस अफसर ज्ञानेंद्र त्रिपाठी को पहली पत्नी के होते हुए दूसरी शादी करने पर कड़ी फटकार लगाई है। बता दें कि हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान त्रिपाठी को पहली पत्नी अपर्णा को 6 हफ्ते में 50 लाख रुपए देने का आदेश दिया है।’

इसके अलावा कोर्ट ने ज्ञानेंद्र की दूसरी पत्नी श्वेता मिश्रा से भी कहा है कि, ‘आप भी अपर्णा को 2 हफ्ते में 10 लाख रुपए दीजिए।’ बता दें कि गुरुवार को मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एपी शाही और न्यायमूर्ति अंजना मिश्रा की खंडपीठ ने मुख्य न्यायाधीश के चैम्बर में इस मामले से जुड़े सभी पक्षों को सुना था।

मालूम हो कि मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एपी शाही ने कहा- “यह एक तरह का विशेष मामला है। इसे अदालत से अलग रखना मुनासिब रहेगा। जो हो गया, सो हो गया। अब आगे इनका यानी कि अपर्णा त्रिपाठी का जीवन कैसे चले, इस पर हम सभी लोगों को विचार करना है।”

इस तरह केस पहुंचा कोर्ट

Loading...

बता दें कि त्रिपाठी की दूसरी पत्नी श्वेता मिश्रा, वरीय दंडाधिकारी के पद पर थीं और उन्हें पद से हटा दिया गया था। फिर सरकार के इस फैसले को श्वेता ने पटना हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। दरअसल उनकी याचिका को सुनते हुए हाईकोर्ट की एकल पीठ ने उनके पक्ष में निर्णय दिया।

हाईकोर्ट ने कहा कि सभी पक्ष एक-दूसरे पर लगाए केस वापस लें

आपको बता दें कि राज्य सरकार ने एक अपील दायर कर एकल पीठ के इस फैसले को चुनौती दी। इसके बाद मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ ने इस मामले के सभी पक्षकारों को निर्देश दिया कि वह, एक-दूसरे पर जितने भी मुकदमे दायर किए हैं, उन सभी को वापस ले लें। और कहा कि दो हफ्ते बाद फिर इस मामले की सुनवाई होगी।

दरअसल बिहार सरकार के अपर महाधिवक्ता अंजनी कुमार ने इस विषय में बताया कि खंडपीठ ने राज्य सरकार की अपील पर सुनवाई करते हुए ज्ञानेंद्र त्रिपाठी को निर्देश दिया कि वह अपनी पहली पत्नी अपर्णा को 6 हफ्ते में 50 लाख रुपए दें। इसके अलावा श्वेता मिश्रा को भी अपर्णा को 10 लाख रुपए बतौर मुआवजा देने का आदेश दिया गया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.