Loading...

विजय दिवस पर प्रधानमंत्री ने शेयर की 1999 की वो तस्वीरें, जब युद्ध के दौरान कारगिल पहुंचे थे मोदी

0 204

आज देशभर में 20वां विजय दिवस सेलिब्रेट किया जा रहा है. हर कोई अपने वीर सपूतों को नम आंखों से याद कर रहा है. 26 जुलाई, 1999 को भारत ने पाकिस्तान को कारगिल युद्ध में हराकर विजय तिरंगा लहराया था. इस युद्ध में भारतीय वीर जवानों ने अपने साहस और शौर्य का परिचय दिया था. हमारे वीर सैनिकों ने जो बलिदान दिया, उसे याद करके हम सबका सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है. विजय दिवस के मौके पर भारतीय प्रधानमंत्री ने जवानों को याद किया.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा- 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान मुझे कारगिल जाने और अपने बहादुर सैनिकों के साथ एकजुटता दिखाने का मौका मिला था. यह वह समय था, जब मैं पार्टी के लिए जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में काम कर रहा था. कारगिल की यात्रा और सैनिकों के साथ बातचीत अविस्मरणीय है.

उन्होंने सोशल मीडिया पर सैनिकों के साथ अपनी तस्वीर साझा की, जिसमें वह सैनिकों से बातचीत करते हुए और अस्पताल में घायल सैनिकों से मुलाकात करते हुए दिख रहे हैं. इस युद्ध में भारत ने 527 से ज्यादा वीर सपूतों को खोया था. जबकि 1300 से ज्यादा घायल हुए थे. यह युद्ध लगभग 2 महीने तक चला था, जो लगभग 18 हजार फीट की ऊंचाई पर कारगिल में लड़ा गया था.

Loading...

इस युद्ध की शुरुआत 3 मई 1999 को उस समय हुई थी, जब पाकिस्तान ने कारगिल की ऊंची पहाड़ियों पर 5000 सैनिकों के साथ कब्जा कर लिया था. जब इस बात का पता भारत सरकार को चला तो भारत सरकार ने पाकिस्तानी सैनिकों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए विजय ऑपरेशन चलाया. इस ऑपरेशन में भारतीय वायुसेना ने मिग-27 और मिग-29 का भी उपयोग किया था. इस युद्ध में जहां पाकिस्तान ने कब्जा किया था, वहां बम गिराए गए. इसके अलावा मिग-29 से पाकिस्तान के कई ठिकानों पर R-77 मिसाइलों से भी हमले किए गए थे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.