Loading...

शुरू करना चाहते हैं खुद का कारोबार तो मोदी सरकार बिना गारंटी के आपको देगी 20 लाख तक का लोन

0 16

अगर आप भी उनमें से हैं जो कोई नया बिज़नेस शुरू करने का विचार कर रहे हैं और उसके लिए लोन नहीं मिलने की समस्या से परेशान हैं तो बता दें कि आपकी इस समस्या का समाधान केंद्र की मोदी सरकार के पास है.

जी हां, दरअसल देश की मोदी सरकार मुद्रा योजना के तहत बिजनेस शुरू करने के लिए अब बिना गारंटी 20 लाख रुपये तक लोन देगी. आपको बता दें कि पहले इस योजना के अंतर्गत 10 लाख रुपये का लोन मिलता था.

दरअसल यह जानकारी एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने लोकसभा में पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में दी. मालूम हो कि, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों यानी कि MSME पर बनी रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की विशेषज्ञों की समिति ने यह सिफारिश की है. दरअसल RBI ने MSME के आर्थिक और वित्तीय स्थायित्व के लिए दीर्घावधि के समाधान के लिए 8 सदस्यीय समिति का गठन किया था.

स्वयं RBI ने की 20 लाख रु लोन देने की सिफारिश

Loading...

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस समिति ने रिजर्व बैंक को अपनी रिपोर्ट दे दी है. दरअसल इस रिपोर्ट में एमएसएमई और स्व सहायता समूहों के लिए 20 लाख रुपये तक लोन देने की सिफारिश की गई है. यही नहीं, इस कमेटी ने मुद्रा लोन लिमिट को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये करने की भी सिफारिश भी की है.

किस कारण दिए गए ये सुझाव

आपको बता दें कि जानकारों का दरअसल इस विषय में यह कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी हो गई है. इस कारण से रोजगार अब कम पैदा हो रहे हैं. इसलिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की समिति ने सभी हालातों को देखते हुए यह सुझाव दिया है.

जानिए आखिर क्या है मुद्रा लोन योजना

आपको याद दिला दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुद्रा योजना की शुरुआत साल 2015 में की थी. दरअसल इस योजना का उद्देश्य रेहड़ी-पटरी वाले से लेकर छोटे कारोबार करने वालों को बिना किसी जमानत के लोन की सुविधा उपलब्ध कराना है.

मालूम हो कि कोई भी व्यक्ति जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता है, वह इस योजना के अंतर्गत लोन की सुविधा ले सकता है. वहीं दूसरी तरफ अगर आप अपने मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो भी आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं.

बिना किसी गारंटी के मिलता है लोन

दरअसल मुद्रा योजना की सबसे खास बात यही है कि इस योजना के तहत बिना गारंटी के लोन मिलता है. यही नहीं, इसके अलावा लोन के लिए कोई प्रोसेसिंग चार्ज भी नहीं लिया जाता है. बता दें कि मुद्रा योजना में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है. मालूम हो कि लोन लेने वाले को एक मुद्रा कार्ड मिलता है, जिसकी मदद से कारोबारी जरूरत पर आने वाला खर्च किया जा सकता है.

जानिए कितना मिलता है लोन

बता दें कि यह योजना अप्रैल 2015 में शुरू हुई थी. इसमें 3 तरह के लोन होते हैं:

शिशु लोन : शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं.

किशोर लोन: किशोर कर्ज के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं.

तरुण लोन: तरुण कर्ज के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.