Loading...

जिंबाब्वे क्रिकेट के लिए ICC से आई बड़ी खुशखबरी, लेकिन बिना शर्त करना होगा ये काम

0 7

जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड पर बैन लगे 1 हफ्ते से ज्यादा का समय बीत गया है. आईसीसी ने जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को इस वजह से निलंबित किया था, क्योंकि वह लोकतांत्रिक तरीके से निष्पक्ष चुनाव कराने का माहौल तैयार नहीं कर पाया. वह क्रिकेट के प्रशासन में सरकार की दखलअंदाजी बंद कराने में कामयाब नहीं हुआ. लेकिन हाल ही में आईसीसी की तरफ से जिंबाब्वे क्रिकेट के लिए एक अच्छी खबर आई है.

आईसीसी ने जिंबाब्वे के सामने शर्त रखी है कि वह 8 अक्टूबर तक 14 जून को चुने गए क्रिकेट बोर्ड को बिना किसी शर्त के बहाल कर दे. 14 जून को जिंबाब्वे क्रिकेट की इसी गवर्निंग बॉडी को जिंबाब्वे सरकार ने निलंबित कर दिया था, जिस वजह से आईसीसी ने जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को निलंबित कर दिया. इस निलंबन के बाद से आईसीसी द्वारा जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को दी जा रही आर्थिक मदद पर भी रोक लगा दी गई. इतना ही नहीं जिंबाब्वे क्रिकेट टीम के खिलाड़ी किसी आईसीसी टूर्नामेंट में भी हिस्सा नहीं ले पाएंगे.

इस फैसले के बाद जनवरी 2020 में भारत और जिंबाब्वे के बीच होने वाली टी-20 सीरीज पर भी खतरा मंडरा रहा है. आईसीसी ने समय सीमा निर्धारित की है, जिसके अंदर अगर जिंबाब्वे क्रिकेट अपने अंदरूनी मामलों को सुलझा लेता है तो उसके ऊपर से बन हट जाएगा. नहीं तो आईसीसी जिंबाब्वे को मिला दर्जा भी छीन सकता है.

Loading...

आईसीसी के मुताबिक, जिंबाब्वे ने क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था के संविधान की धारा 2.4 (d) और (e) का उल्लंघन किया है. इस मुद्दे पर 12 अक्टूबर को होने वाली आईसीसी की बैठक में चर्चा की जाएगी. इस बैठक से ठीक 4 दिन पहले जिंबाब्वे क्रिकेट बोर्ड को बहाल करने का निर्देश दिया गया है. अगर वह ऐसा नहीं करता तो आईसीसी जिंबाब्वे से सदस्यता छीन सकती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.