Loading...

WhatsApp इस साल के अंत तक भारत में शुरू करेगा पेमेंट सेवा

0 7

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में सबसे प्रचलित जो प्लेटफॉर्म है या एप्लीकेशन है वह है वॉट्सऐप जी हां, दरअसल वॉट्सऐप हमारे जीवन की एक महत्वपूर्ण कड़ी बन चुकी है। वॉट्सऐप के बिना ना तो हमारे दिन की शुरुआत होती है ना ही हमारा दिन इसके बिना खत्म होता है।

इसमें तो कोई दोराय वाली बात नहीं कि आज के समय में मैसेजिंग ऐप WhatsApp सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किए जाने वाला ऐप है। और शायद यही वजह है कि कंपनी अपने ग्राहकों के लिए समय-समय पर नए ऑफर एवं नए फीचर लाती रहती है।

इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप इस साल के अंत तक भारत में अपनी पेमेंट सेवा शुरू कर सकता है। जी हां, दरअसल वॉट्सऐप के ग्लोबल हेड Will Cathcart ने बुधवार को इस बारे में जानकारी दी।

मालूम हो कि फिलहाल देश में वॉट्सऐप के 40 करोड़ यूजर्स हैं। कंपनी पिछले साल से तकरीबन 10 लाख यूजर्स के साथ पेमेंट सेवा का परीक्षण कर रही है। बता दें कि वॉट्सऐप की सेवा का मुकाबला देश में पहले से मौजूद Paytm, PhonePe, GooglePay से रहेगा।

Loading...

देश की डिजिटल इकोनॉमी में होगी बढ़ोतरी

दरअसल Will Cathcart के मुताबिक कंपनी पैसों के ट्रांसफर को मैसेज भेजने की तरह आसान बनाना चाहती है। दरअसल उन्होंने कहा कि, अगर इस सेवा ने ठीक से काम किया तो यह देश में वित्तीय समावेश को बढ़ावा देने में मदद करेगी।

मालूम हो कि यह सेवा देश की तेजी से बढ़ती डिजिटल इकोनॉमी में लोगों को सुविधा पहुंचाएगी। बता दें कि वॉट्सऐप के दुनियाभर में 1.5 अरब यूजर्स हैं। दरअसल कंपनी अन्य देशों में भी इस सुविधा को लॉन्च करने के दिशा में काम कर रही है।

कई विवादों में घिर चुकी है ये योजना

आपको बता दें कि वॉट्सऐप की पेमेंट सेवा की योजना डाटा स्टोरेज प्रैक्टिस और ऑथेंटिकेशन को लेकर भारत में कई विवाद हो चुके हैं। जी हां, दरअसल इसके प्रतिद्वंदियों ने आरोप लगाया है कि वॉट्सऐप के पेमेंट प्लेटफॉर्म में उपभोक्ताओं के लिए कई सिक्योरिटी रिस्क हैं और यह नियमों का भी पालन नहीं कर रहा है।

हालांकि पिछले साल अक्टूबर में वॉट्सऐप ने इसका जवाब दिया था और इस मामले में सफाई देते हुए कहा था कि, उसने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के निर्देशों के अनुसार पेमेंट संबंधित डाटा को देश में ही स्टोर करने के लिए सिस्टम विकसित किया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.