Loading...

फ्री खाने के लिए ये शख्स रेलवे के खाने में डालता था छिपकली, पुलिस ने किया गिरफ्तार

0 14

अगर अपने भी रेलवे में सफर किया है तो आप इस बात से जरूर राजी होंगे कि रेल में बैठने के बाद अक्सर लोगों को जिस चीज की चिंता रहती है वह है इंडियन रेलवे का खाना. जी हां, दरअसल रेलवे के खाने को लेकर अक्सर लोग चिंतित रहते हैं की वे ये खाना खाए या नहीं. अब इस खाने को लेकर असावधानी बरतने का एक केस बुधवार को सामने आया है.

मालूम हो कि रेलवे को एक व्यक्ति ने बिरयानी में छिपकली निकलने की कंप्लेंट की थी. इसके बाद रेलवे अधिकारियों ने जब एक्शन लिया जिसमें ये सामने आया है कि ऐसा एक शख्स जानबूझकर कर रहा है. दरअसल ऐसा करने के पीछे उसका मकसद रेल में फ्री खाना है. आपको बता दें कि इस शख्स को अब पुलिस ने पकड़ लिया है.

जानिए इस मामले की सच्चाई

आपको बता दें कि फाइनेंशियल एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक, ऐसी कई शिकायतें आ जाने के बाद जबलपुर के सीनियर डिवीजनल कॉमर्शियल मैनेजर बसंत कुमार शर्मा को शक हुआ. दरअसल उन्होंने थोड़ी जांच की तो पता चला कि एक ही शख्स है, जिसने कई बार खाने में छिपकली निकलने की शिकायत की थी.

Loading...

मालूम हो कि रेलवे अधिकारियों ने जब इस शख्स को पकड़ा तो यह पता चला कि सुरेंद्र पाल नाम का ये शख्स 70 साल से ज्यादा की उम्र का एक बुजुर्ग है और ये कुछ वक्त से ये ट्रिक्स अपना रहा था. बता दें कि वो फ्री में खाना खाने के लिए अपने ही खाने में छिपकली डाल देता था.

इस शख्स ने समोसे में छिपकली निकलने की शिकायत भी की थी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस शख्स ने एक बार अपने समोसे में छिपकली निकलने की शिकायत की थी. दरअसल फिर इसने एक बार अपनी बिरयानी में छिपकली निकलने की शिकायत की. बता दें कि इससे डीसीएम बसंत कुमार शर्मा को शक हुआ और उन्होंने रेलवे डिवीजन को इस शख्स की फोटो भेजकर अलर्ट किया.

आपको बता दें कि जब इस मामला की समझ रेलवे अधिकारियों को आई तब उन्होंने सुरेंद्र पाल को पकड़ा और पूछताछ की. दरअसल सुरेंद्र ने अपनी गलती कबूल की और खुद को बल्ड कैंसर का मरीज बताया. यही नहीं, उसने ये भी कहा कि वो मानसिक रूप से अस्वस्थ है.

हालांकि आपको बता दें कि अभी अधिकारियों को ये स्पष्ट नहीं है कि वो मानसिक रूप से अस्वस्थ है या नहीं लेकिन उन्होंने उसे भरोसा दिलाया है कि अगर उसने दोबारा ऐसा नहीं किया तो वो उसे किसी भी तरह की सजा नहीं देंगे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.