Loading...

पाकिस्तान के मौलवी मीथा ने कबूला- हिंदू लड़कियों को मुसलमान बनाना ही है मेरा लक्ष्य

0 29

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान फिलहाल अमेरिकी दौरे पर हैं. इसको लेकर अमेरिका के 10 सांसदों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक लेटर लिखा जिसमें कहा गया है कि वह पाकिस्तान के सिंध प्रांत में हिंदू लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन कराए जाने के मुद्दे को लेकर इमरान खान से बातचीत करें. इसी बीच अब्दुल खालिक मीथा ने भास्कर को दिए इंटरव्यू में यह कुबूल किया कि वह हिंदू लड़कियों को मुसलमान बनाने के मिशन पर था, है और आगे भी जारी रखेगा. इतना ही नहीं उसने यह भी दावा किया है कि उसके 9 बच्चे भी यही काम करेंगे.

सिंध में धर्मांतरण के 1000 से ज्यादा मामले दर्ज

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल केवल सिंध प्रांत में ही अल्पसंख्यकों के जबरन धर्मांतरण के एक हजार से ज्यादा मामले दर्ज हुए. सिंध में धर्मांतरण का सबसे बड़ा अड्डा धरकी शहर की भरचूंदी दरगाह है, जिसको इमरान खान का करीबी अब्दुल खालिक मीथा चलाता है. रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 9 सालों में इस दरगाह में 450 हिंदू लड़कियों का जबरन धर्मांतरण करवाया जा चुका है.

जब इस बारे में मीथा से पूछा गया तो उसने कहा कि हां, मैंने हिंदू लड़कियों के धर्मांतरण के लिए दरगाह में व्यवस्था करवाई हुई है. लेकिन मैं इसके लिए उनके घर तक कोई टीम नहीं भेजता. वह अपनी इच्छा से यहां आती है. मैं उनके निकाह का इंतजाम करता हूं. मेरे पूर्वज यही करते आ रहे हैं और मैं इस मिशन को आगे बढ़ा रहा हूं. मेरे मरने के बाद मेरे बच्चे भी यही काम करेंगे.

Loading...

मीथा ने आगे कहा कि भारत में घर वापसी कैंपेन इस वजह से ठंडा पड़ गया, क्योंकि पाकिस्तान में किसी भी हिंदू लड़की के साथ कोई जबरदस्ती नहीं हो रही. अगर पाकिस्तान में किसी भी हिंदू लड़की के साथ जबरदस्ती हो रही होती तो भारत सबसे पहले यूएन जाता. लेकिन उसने ऐसा कुछ नहीं किया.

मीथा इमरान का करीबी, कहता है मुझे एक और बेगम चाहिए, वह भी हिंदुस्तानी

मीथा 78 साल का है. वह 9 बच्चों का पिता है. उसकी पत्नी मर चुकी है. लेकिन वह अब भी शादी करना चाहता है. उसने कहा कि मेरे फॉलोअर्स चाहते हैं कि मैं एक बार और निकाह करूं. इसलिए मैं दुल्हन ढूंढ रहा हूं. मेरी ख्वाहिश है कि मेरी नई दुल्हन हिंदुस्तान से हो.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.