Loading...

भीड़ हिंसा को लेकर चिट्ठी लिखने वालों पर भड़के अशोक पंडित, कहा- अपने देश में नहीं तो कहां बोलेंगे जय श्री राम

0 14

भीड़ हिंसा की घटनाओं को लेकर 49 हस्तियों के सिग्नेचर वाली एक चिट्ठी काफी सुर्खियों में है, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी गई, जिसमें देश के अंदर चल रही नस्लीय और जातिय धार्मिक हिंसा को लेकर नाराजगी व्यक्त की गई है. इस चिट्ठी पर डायरेक्टर मणिरत्नम के भी हस्ताक्षर थे. हालांकि बाद में यह पता चला कि मणिरत्नम ने ऐसी किसी भी छुट्टी पर साइन नहीं किए.

अब अशोक पंडित ने इन हस्तियों को बरसाती मेंढक बताया है. एक टीवी शो पर अशोक पंडित ने कहा- 2019 में बरसाती मेंढक बाहर आकर शोर मच आ रहे हैं. चुनाव से पहले इनसे कहा गया था कि बाजार में निकलो और देश को गालियां देना शुरू करो. यह लोग भारत को विदेशों में बदनाम कर रहे हैं. अगर हम अपने देश में जय श्री राम का नहीं बोलेंगे तो कहां बोलेंगे.

उन्होंने चिट्ठी में हस्ताक्षर करने वाली 49 हस्तियों को पैड एजेंट कहा और कहा कि जब चुनाव आने वाले होते हैं तभी लोग मोदी सरकार के खिलाफ बोलना शुरू कर देते हैं. मणिरत्नम की टीम ने उस चिट्ठी को खारिज कर दिया, जिसमें मणिरत्नम का हस्ताक्षर भी बताया जा रहा था.

Loading...

फिलहाल मणिरत्नम अपनी अपकमिंग फिल्म के प्री प्रोडक्शन में व्यस्त हैं. उन्होंने ऐसी कोई किसी चिट्ठी पर हस्ताक्षर नहीं किए और ना ही ऐसी कोई चिट्ठी उनके सामने सपोर्ट के लिए प्रस्तुत की गई. बता दें कि पीएम मोदी को जो चिट्ठी लिखी गई थी, जिसमें साहित्य, सिनेमा, इतिहास और कला जगत से जुड़ी 49 हस्तियों द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे, जिनमें अदूर गोपालकृष्णन, रामचंद्र गुहा, अनुराग कश्यप जैसी कई मशहूर सितारे शामिल है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.