Loading...

बीसीसीआई ने इंडियंस क्रिकेटर्स एसोसिएशन को दी मंजूरी, अब गुमनामी में नहीं जिएंगे भारतीय क्रिकेटर

0 3

भारतीय क्रिकेट इतिहास को विश्व में ऊंचे मुकाम पर पहुंचाने वाले खिलाड़ी अब गुमनामी में नहीं जिएंगे. बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेट संघ को मंजूरी देते हुए इस दिशा में बड़ा कदम उठाया है. आईसीए का गठन इस महीने की शुरुआत में किया गया था, जिसका उद्देश्य पूर्व खिलाड़ियों के हितों की रक्षा करना है. यह संस्था क्रिकेटरों की अंतर्राष्ट्रीय संस्था फेडरेशन ऑफ द इंटरनेशनल क्रिकेटर एसोसिएशन से संबंध नहीं है. यह संस्था केवल भारत के पूर्व पुरुष और महिला खिलाड़ियों के हितों की रक्षा के लिए गठित की गई है.

बीसीसीआई ने आईसीए का गठन पूर्व क्रिकेटरों के हितों का ख्याल रखने के उद्देश्य से किया है. डीएनए की रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई ने इस संबंध में एक नोटिस जारी किया, जिसमें कहा है कि बोर्ड ने कंपनीज एक्ट 2013 के तहत 5 जुलाई, 2019 को एक नॉन प्रोफिट संस्‍था आईसीए के गठन को आधिकारिक रूप से मंजूरी दी है.

स्वतंत्र रूप से काम करेगी यह संस्था

Loading...

यह संस्था स्वतंत्र रूप से काम करेगी और उसके लिए अलग से फंड दिया जाएगा. बीसीसीआई शुरुआत में इसके लिए कुछ मदद उपलब्ध कराएगी. लेकिन इसके बाद इसकी पूरी जिम्मेदारी आईसीए के सदस्यों को उठानी होगी. आईसीए के अलावा बीसीसीआई पूर्व क्रिकेटरों की किसी भी संस्था को मान्यता नहीं देगी. आईसीए का निदेशक भारत के तीन पूर्व क्रिकेटरों कपिल देव, अजीत अगरकर और शांता रंगास्वसामी को बनाया गया है. यह सभी बीसीसीआई के चुनाव तक अपने पद पर रहेंगे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.