Loading...

आसान हुआ रेलवे के साथ बिजनेस करना, अब घर बैठे ही मिल जाएंगी सभी जरूरी जानकारियां

0 7

भारतीय रेलवे ने पिछले कुछ समय मे काफी बदलाव किए हैं जिसके कारण यात्रियों को कई तरह की नई सुविधाओं का लाभ मिला है. अब इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए रेल यात्रियों की सुविधा को बढ़ाने के उद्देश्य से देश के रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में रेल दृष्टि पोर्टल की शुरुआत की है.

आपको बता दें कि इस पोर्टल के जरिये देश में सभी रेल पुलों के बारे में आप आप आसानी से सूचना ले सकते हैं. जी हां, दरअसल ‘रेल दृष्टि’ पोर्टल से आम लोगों को रेल पुलों की जानकारी मिलेगी.

यही नहीं, इसके साथ ही इस पोर्टल पर 15 कैटेगरीज और कई सर्विसेज भी मिलती हैं. बता दें कि इसमें माल ढुलाई व यात्री आय, माल लदान व उतराई, बड़ी परियोजनाओं की प्रगति, जन शिकायतों, रेलवे स्टेशनों का विवरण और रेल टेंडर्स के बारे में भी जानकारी मिलती है.

ये है इस पोर्टल को लॉन्च करने के पीछे रेलवे का मकसद

Loading...

मालूम हो कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जल्द ही इस ‘रेल दृष्टि’ पोर्टल पर देशभर के करीब 1 से 1.25 लाख रेल पुलों की जानकारी होगी. आपको बता दें कि इस पोर्टल पर लोगों को रेलवे के पुल के सभी महत्वपूर्ण विवरण उपलब्ध होंगे, जैसे कि पुल के निर्माण का साल, इसके लेखा परीक्षा का वर्ष और लेखा परीक्षकों के बारे में जानकारी होगी.

दरअसल देश के रेल मंत्री पीयूष गोयल के मुताबिक इस पोर्टल पर पुल के लेखा परीक्षकों और संबंधित अधिकारियों के फोन नंबर भी शामिल किए जाने की कोशिश की जाएगी.

मालूम हो कि रेलवे इस पोर्टल के जरिये पुलों से संबंधित ऐसी सभी जानकारी सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराने की कोशिश में जुट गई है. दरअसल इसके जरिये रेलवे का मकसद पारदर्शिता और गुणवत्ता को बढ़ावा देना है.

इन केटेगरी के तहत सर्विसेज की मिलेगी जानकारी

आपको बता दें कि इस पोर्टल के डैशबोर्ड पर 15 कैटेगरीज के तहत सर्विसेज की जानकारी मिलेगी. जी हां, दरअसल इसमें ट्रेनों को ट्रैक करना, ट्रेन रूट्स का 360 डिग्री वर्चुअल टूर, फ्रेट अर्निंग्स, रेलवे का खर्च आदि शामिल है.

बता दें कि इस पोर्टल के जरिये रेल की आवाजाही, ट्रेन के आने-जाने की समयबद्धता, माल ढुलाई व यात्री आय, माल लदान व उतराई, बड़ी परियोजनाओं की प्रगति, जन शिकायतों, रेलवे स्टेशनों का विवरण और अन्य चीजों के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं.

मालूम हो कि ट्रेनों में परोसे जाने वाले खाने की गुणवत्ता से संबंधित लगातार शिकायतों के संबंध में डैशबोर्ड को भारतीय रेल खानपान एवं पर्यटन निगम यानी कि आईआरसीटीसी के बेस रसोईघरों से भी जोड़ दिया गया है. दरअसल इससे लाइव वीडियो के जरिये आईआरसीटीसी रसोईघरों में क्या चल रहा है, उसकी निगरानी की जा सकेगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.