Loading...

कार-बाइक चलाने वाले ध्यान दें! बदल गए हैं ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू से लेकर ये सभी 15 नियम

0 9

अब सड़क पर चलना पहले से थोड़ा सेफ होने वाला है, जी हां, दरअसल केंद्रीय कैबिनेट ने मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है. बता दें कि इस बिल का मकसद रोड एक्सीडेंट से जुड़े कारणों को दूर करना और सड़क यातायात नियमों का पालन नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई करना है.

दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए पुराने बिल में करीब 88 संशोधन किए गए हैं. यही कारण है इसे नया बिल ही माना जा रहा है.

आपको यह बता दें कि वर्तमान कानून में क्षतिपूर्ति का फैसला एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल करता है, जिसमें मृतक और घायल के लिए उसकी उम्र, इनकम, आश्रितों के अनुसार हर्जाने का प्रावधान है जो हजारों रुपये से लेकर लाखों और करोड़ों में जा सकता है, लेकिन राहत के नाम पर मृत्यु की स्थिति में क्षतिपूर्ति की राशि को अधिकतम 5 लाख रुपये और घायल होने पर ढाई लाख रुपये की राशि दी जाती।

जानिए मोटर व्हीकल एक्ट के नए नियमों के बारे में..

Loading...

1. बता दें कि अगर आप अब बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं तो धारा-196 के तहत 2000 रुपये का चलाना होगा. इससे पहले 1000 रुपये का जुर्माना लगता था.

2. वहीं हिट एंड रन के मामले में सरकार 2 लाख रुपये या उससे अधिक का मुआवजा मृतक के परिजनों के देगी. अब तक यह रकम 25 हजार रुपये थी.

3. आपको बता दें कि संशोधित नियमों के अनुसार कार चलाते वक्त मोबाइल से बात करते पकड़े जाने पर पहले 1000 रुपये जुर्माना लगता था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 5000 रुपये कर दिया गया है.

4. बता दें कि बिना हेलमेट कार और बाइक चलाने पर 1000 रुपये का जुर्माना और 3 महीने के लिए लाइसेंस जब्त करने का प्रावधान है. दरअसल फिलहाल ये जुर्माना सिर्फ 100 रुपये है.

5. मालूम हो कि सामान्य (धारा-177) और (नई धारा-177-ए) के तहत ट्रैफिक नियम तोड़ने पर पहले 100 रु. का जुर्माना लगता था, अब 500 रुपये जुर्माना लगेगा.

6.बिना टिकट बस में यात्रा की तो धारा-178 के तहत पहले 200 रुपये का जुर्माना था, अब 500 रुपये कर दिया गया है

7. ट्रैफिक विभाग के अधिकारियों का आदेश नहीं माना तो धारा-179 पर पहले 500 रुपये का जुर्माना था, अब 2000 रुपये लगेंगे.

8. बिना लाइसेंस के अनधिकृत वाहन चलाने पर धारा-180 के तहत पहले 1000 रुपये का जुर्माना लगता था, अब 5000 रु. लगेगा.

9. बिना लाइसेंस गाड़ी चलाई तो धारा-181 के तहत पहले 500 रुपये जुर्माना लगता था, अब 5000 रुपये लगेगा.

10. वहीं बिना योग्यता गाड़ी चलाने पर धारा-182 के तहत पहले 500 रुपये का जुर्माना था, जो अब बढ़कर 10 हजार रुपये कर दिया गया है.

11. इस नए संशोधन के अनुसार अगर नशे मे ड्राइविंग करते हुए पाए गए तो ऐसी स्थिति में धारा 185 के तहत जुर्माना 2 हजार रुपए से बढ़ाकर 10 हजार रुपए किया जाएगा.

12. वहीं अगर ओवर स्‍पीडिंग या तेज गाड़ी चलाई तो धारा-189 के तहत फाइन 500 से बढ़कर 5 हजार किया जा सकता है.

13. वहीं सीट बेल्‍ट न बांधने पर धारा-194बी के तहत जुर्माना 100 रुपए से बढ़ाकर 1000 रुपए किया जाएगा.

14. ओवरलोडिंग करी तो जुर्माना 100 रु से बढ़ाकर 2000 किया जाने का प्रावधान है.

15. वहीं अगर किसी आपातकालीन गाड़ी जैसे एम्बुलेंस को रास्ता नहीं दिया तो धारा-194ई के तहत पहली बार 10,000 रुपये के ज़ुर्माने का प्रावधान किया गया है.

ये है जरूरी बातें

आपको बता दें कि ट्रैफिक नियमों का पालन मजबूती से किया जाए, इसके लिए मोटर व्हीकल एक्ट 1988 में बदलाव कर मोटर व्हीकल (संशोधन) बिल 2019 को लोकसभा में पास किया गया.

मालूम हो कि ये बिल अप्रैल 2017 में भी लोकसभा में पास हुआ था, लेकिन राज्यसभा में पास नहीं होने के कारण अटक गया था. आपको बता दें कि मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव के बाद अब विभिन्न प्रकार के ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ज्यादा सजा होगी और जुर्माना भी ज्यादा लगेगा.

मालूम हो कि इस नए एक्ट में तय मानक से कमतर इंजन बनाने पर गाड़ी बनाने वाली कंपनियों पर 500 करोड़ तक के जुर्माने का प्रावधान है.

इसके अलावा ड्राइविंग लाइसेंस बनाने या वाहन का पंजीकरण करवाने के लिए आधार कार्ड जरूरी होगा. बता दें कि सरकार का यह मानना है कि जुर्माने की राशि कम होने की वजह से लोग ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.