Loading...

अयोध्या में बनेगी भगवान राम की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा, 2500 करोड़ होंगे खर्च, लंबाई होगी 251 फीट

0 15

भगवान राम की नगरी अयोध्या में सरयू नदी के किनारे भगवान श्रीराम की भव्य मूर्ति बनाई जाएगी. जी हां, दरअसल भगवान राम की यह प्रतिमा विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी. बता दें कि इस मूर्ति की लंबाई 251 फीट होगी.

मालूम हो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई एक मीटिंग में इस पर फैसला लिया गया. दरअसल इस बैठक में अयोध्या में प्रस्तावित राम मूर्ति और उसके आसपास के डिजाइन और प्रारूप को लेकर भी चर्चा हुई. आपको बता दें कि इसका एक मॉडल भी तैयार किया गया है. मालूम हो कि इस मॉडल की एक्सक्लूसिव तस्वीरें हमारे पास हैं.

100 एकड़ में बनेगी राम प्रतिमा

मालूम हो कि अयोध्या में सरयू नदी के किनारे लगभग 100 एकड़ में पूरा इलाके का कायाकल्प किया जाएगा. दरअसल 251 मीटर ऊंची भगवान श्रीराम की मूर्ति बनाई जाएगी, इसमें 20 मीटर ऊंचा चक्र भी होगा. बता दें कि मूर्ति के नीचे 50 मीटर का बेस होगा. भगवान श्रीराम की प्रतिमा की बात करे तो इस प्रतिमा के हाथ में धनुष, तीर और तरकश होगा.

Loading...

म्यूजियम भी बनेगा

आपको बता दें कि 50 मीटर ऊंचे बेस/पेडेस्टल के नीचे ही भव्य व आधुनिक म्यूजियम बनाया जाएगा, जिसमें भगवान श्रीराम के जीवन से जुड़ी चीजों को रखा जाएगा. सिर्फ इतना ही नहीं इस म्यूजियम में अयोध्या का इतिहास और इक्ष्वाकु वंश के राजा मनु से लेकर श्रीराम जन्म भूमि तक का इतिहास होगा. इसके अलावा आधुनिक तकनीक के माध्यम से इस म्यूजियम में भगवान विष्णु के सभी अवतारों को भी दिखाया जाएगा.

ट्रस्ट का भी होगा गठन

मालूम हो कि राम मूर्ति के लिए यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने खास प्लान तैयार किया है. जी हां, दरअसल इस राम मूर्ति के साथ-साथ सरयू रिवरफ्रंट भी बनाया जाएगा. सीएम योगी की अध्यक्षता में एक ट्रस्ट का गठन होगा. योगी सरकार ने विश्व की सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा बनवाने का ऐलान किया, जल्द ही इसका निर्माण शुरू कर दिया जाएगा. अयोध्या से गुजरने वाले हर शख्स को राम के दर्शन हो सकेंगे.

इतना आएगा खर्च

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार के सूत्रों के मुताबिक, प्रोजेक्ट पर पूरा खर्च 2500 करोड़ रुपए का होगा. इसे तीन फेज में खर्च किया जाएगा. पहले फेज में 1500 करोड़ खर्च होंगे.

बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार प्रोजेक्ट में तकनीकि सहायता के लिए गुजरात सरकार के साथ MoU भी करेगी. वहीं, प्रतिमा को खड़ा करने और देखरेख के लिए राजकीय निर्माण निगम का भी गठन किया जाएगा.

राम मूर्ति परिसर में क्या होगी खासियतें

राम कुटिया (कॉटेज)

सात्विक भोजनालय

विश्राम गृह

बड़े होटल

राम लीला मैदान

गुरूकुल

सरयू घाट

ऑडिटोरियम

वनवास (बगीचा)

पार्किंग

गौशाला

बंदरों के उपचार के लिए अस्पताल

वैदिक पुस्तकालय

सर्विस रोड

पेडेस्टल प्लाजा

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.