Loading...

तांबे की अंगूठी पहनने से होते हैं कई गजब के फायदे, रक्तचाप और पेट की परेशानियों से मिलती है राहत

0 11

यह बात तो सभी जानते हैं कि तांबे के जग में पानी भर कर पीना कितना ज्यादा फायदेमंद होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि तांबे की अंगूठी और आभूषण पहनना भी आपके शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद है। जी हां आपको बता दें कि ज्योतिष में भी 9 ग्रह बताए गए हैं। और सभी ग्रहों की अलग अलग धातु होती है । और इन सभी ग्रहों का राजा सूर्य होता है और मंगल इनका सेनापति होता है। सूर्य और मंगल की धातु तांबा होती है। हिंदू धर्म में सोना चांदी और तांबा इन तीनों धातुओं को काफी ज्यादा पवित्र माना गया है। इसलिए पूजा पाठ के दौरान इन धातुओं का इस्तेमाल किया जाता है इसके अलावा आपने देखा होगा कि कई सारे लोग तांबे की अंगूठी भी पहनते हैं।

मानसिक तनाव को करता है कम

आपको बता दें कि आयुर्वेद के मुताबिक तांबे के बर्तनों का उपयोग करने से हमारे रोग और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। यही लाभ तांबे की अंगूठी पहनने से हमको मिलता है तांबे की अंगूठी पेट संबंधी सभी बीमारियों से हमें अब फायदा पहुंचाती है यह दर्द पाचन में गड़बड़ी और एसिडिटी जैसी समस्याओं से निजात दिलाती है।

अगर आप नियमित रूप से तांबे की अंगूठी को पहनते हैं तो यह आपकी स्किन के लिए भी काफी ज्यादा अच्छा होता है।

Loading...

आपको बता दें तांबे की अंगूठी पहनने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। यह ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होती है।

इतना ही नहीं इस अंगूठी को पहनने से आप अपने शरीर में आ रही सूजन को भी कम कर सकते हैं।

आपको बता दें कि तांबे की अंगूठी शरीर की गर्मी को कम करने में मदद करती है। उसे पहनने से शारीरिक और मानसिक तनाव भी कम होता है। इसके साथ ही हम अपने गुस्से पर नियंत्रण रख सकते हैं। दिमाग और मन दोनों को शांत रखने में काफी ज्यादा फायदेमंद होती है।

इस अंगूठी को पहनने की होते हैं कई सारे फायदे

आपको बता देगी तांबे की अंगूठी में माणिक्य और मूंगा भी पहना जाता है। हालांकि यह रात में किसी भी ज्योतिष की सलाह के बिना नहीं धारण करनी चाहिए। क्योंकि रत्न के साथ तांबे की अंगूठी को अनामिका यानी की रिंग फिंगर में पहना जाता है। क्योंकि इस उंगली पर सूर्य और मंगल का प्रभाव काफी ज्यादा होता है। बिना रत्न की तांबे की अंगूठी दाएं या बाएं हाथ की किसी भी उंगली में पहन सकते हैं। इस अंगूठी को पहनने से सूर्य और मंगल का अशुभ प्रभाव भी कम हो जाता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.