Loading...

इस शख्स के नहीं था प्राइवेट पार्ट, डॉक्टर ने की सर्जरी तो जा सका हनीमून मनाने, लेकिन हो गया कुछ ऐसा

0 31

कुछ ही दिन पहले आपने सुना था कि 45 वर्षीय एंड्रयू वार्डल आर्टिफिशियल प्राइवेट पार्ट लगाकर हनीमून पर गए थे.एंड्रयू की इंग्लैंड के डॉक्टर ने सफलतापूर्वक सर्जरी करके उन्हें प्राइवेट पार्ट लगाया था. एंड्रयू प्राइवेट पार्ट लगने के बाद पहली बार खुशी खुशी अपनी वाइफ के साथ हनीमून पर गए थे, लेकिन हनीमून पर उनकी खुशी गम में बदल गई.

एंड्रयू की पत्नी ने बताया कि हनीमून पर पहली बार जब उन्होंने शारीरिक संबंध बनाए तो उसके अगले दिन एंड्र्यू फर्श पर बेहोश पड़े थे. एंड्रयू की यह हालत देखकर उनकी पार्टनर ने तुरंत इमरजेंसी सर्विस को कॉल करके उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया. एंड्रयू की पत्नी का कहना है कि यह सब उस आर्टिफिशियल पेनिस की वजह से हुआ है. एंड्रयू की वाइफ उनसे बहुत प्यार करती है इसलिए उनका कहना है कि पहली बार उन्हें ऐसी हालत में देख कर वो घबरा गई. एंड्रयू अभी 5 दिनों से बेहोश है, बीच में उन्हें एक बार होश आया था, लेकिन उल्टी करके वापस बेहोश हो गए.

करोड़ों में से एक इंसान होता है इसका शिकार

डॉक्टर ने बताया कि यह बीमारी करोड़ों में से 1 दुर्भाग्यशाली इंसान को होती है. इस बीमारी के बावजूद भी एंड्रयू का लंदन के एक प्रसिद्ध हॉस्पिटल में डॉक्टर ने इलाज किया था. एंड्रयू के शरीर की स्किन का इस्तेमाल करके डॉक्टर ने उनके नया पेनिस लगाया था. एंड्रयू ने इस सर्जरी के लिए तकरीबन ₹4700000 खर्च किए थे, जो करीब 10 घंटे तक चली थी.

Loading...

फेलोप्लास्टी सर्जरी की थी

एंड्रयू को ‘एक्टोपिया वसाइक’ नाम की एक दुर्लभ बीमारी थी जो 40000 बच्चों में से किसी एक को होती है. इस बीमारी के चलते पेशेंट का प्राइवेट पार्ट सही ढंग से विकसित नहीं हो पाता है. ऐसे में पिछले 45 साल से एंड्रयू बिना प्राइवेट पार्ट के जिंदगी जी रहे थे. डॉक्टर ने कई सर्जरिया कर के एंड्रयू को प्राइवेट पार्ट लगाया. एंड्रयू के केस में जो जटिलताएं थी वो दो करोड़ लोगों में से किसी एक को होती है. इस नए पेनिस को लगाने के लिए जो सर्जरी की गई थी उसे फैलोप्लास्टी के नाम से जानते हैं.

आर्टिफिशियल प्राइवेट पार्ट में किया गया एंड्रयू की चमड़ी का इस्तेमाल

डॉक्टर ने इस दुर्लभ बीमारी की फेलोप्लास्टी करते हुए एंड्रयू का इलाज किया था. यह प्रोसेस इसी साल जून महीने से चालू हुई थी. सर्जन ने नया पेनिस लगाने के लिए एंड्रयू के हाथ की स्किन और पैर की नसों का इस्तेमाल किया. 10 घंटे तक चली इस जटिल सर्जरी के बाद एंड्रयू को नया पेनिस लगाया गया. पूरी जानकारी लेने के लिए डॉक्टर ने उसे 10 दिन तक हॉस्पिटल में भर्ती भी रखा था. डॉक्टर ने एंड्रयू को हिदायत दी थी कि यौन संबंध बनाने के लिए वह कम से कम 6 हफ़्तों का इंतजार करें.

बटन से काम करता है प्राइवेट पार्ट

पहली बार प्राइवेट पार्ट लगने के बाद एंड्रयू ने अपनी गर्लफ्रेंड फेड्रा फेबियन के साथ शारीरिक संबंध भी बनाए थे. एंड्रयू का कहना था कि यह बेहद शानदार एहसास था. एंड्रयू को सेक्स से पहले पेट और जांघ के बीच स्थित एक बटन दबाना पड़ता है. बटन दबाने पर उसके अंडकोष से एक वॉल्व के जरिए सलाइन फ्लूड उसके प्राइवेट पार्ट में जाता है और करीब 20 मिनट के लिए वहां इरेक्शन हो जाता है.

पिता बनने की थी आस

आर्टिफिशियल पेनिस लगने के बाद एंड्रयू का कहना था कि यह पेनिस उनके अंडकोष से जुड़ा ,है तो वह जल्द ही पिता बन जाएंगे. इसी के चलते उन्होंने शारीरिक संबंध बनाए लेकिन मामला गड़बड़ हो गया. अभी उन की हालत गंभीर है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.