Loading...

सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है पालतू जानवरों के साथ समय बिताना, तनाव से मिलती है मुक्ति

0 4

पालतू जानवरों के साथ समय बिताना नासिक कॉलेज स्टूडेंट्स का मूड अच्छा करता है। बल्कि उनके फैंस को भी काफी कम कर देता है। जी हां एक सर्वे के दौरान इस बात का दावा किया गया है कि अक्सर स्टूडेंट पढ़ाई और एग्जाम के दौरान तनाव में आ जाते हैं। इसी को लेकर वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक सर्वे किया।

आपको बता दें कि कई सारी यूनिवर्सिटीज ने पेट योर स्ट्रेस अवे प्रोग्राम चलाएं। जहां जाकर छात्र कुत्ते और बिल्लियों के साथ खेल सकते थे। युनिवेर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर ने इस बात का दावा किया है कि उन्होंने अध्ययन में इस बात को पाया है। कि पालतू जानवरों के साथ सिर्फ 10 मिनट समय बिताने से हेल्प में काफी ज्यादा इंप्रूवमेंट होता है । आपको पता नहीं कि अध्ययन के दौरान जिससे स्टूडेंट्स ने कुत्ते और बिल्लियों के साथ समय बिताया। उनके अंदर एक अजीब से हार्मोन की कमी पाई गई यह हार्मोन तनाव का हार्मोन होता है।

इस अभियान में 249 कॉलेज छात्राओं को शामिल किया गया था। जिसमें चार ग्रुप में इनको डिवाइड कर दिया गया था। अध्ययनकर्ताओं ने पहले ग्रुप के स्टूडेंट को कुत्ते और बिल्लियों के साथ 10 मिनट तक का समय इनको बिताने के लिए दिया। जबकि दूसरे ग्रुप के स्टूडेंट्स को पहले ग्रुप को बैठ के साथ खेलते हुए सिर्फ देखने को बोला गया।

वहीं इससे ग्रुप को उनके पेट की फोटो के स्लाइड शो दिखाए गए और चौथी को सिर्फ इंतजार करने को बोला गया। इसके बाद सभी स्टूडेंट्स से लार के सैंपल लिए गए। इसमें इस बात का पता चला कि जिन छात्रों ने जानवरों के साथ समय बिताया है यानी कि पहला ग्रुप जिनको जानवरों के पास भेजा गया था। समय बिताने के लिए उनके अंदर एक हार्मोन की कमी पाई गई। इसके बाद अध्ययन कर्ताओं ने बताया इस तरह वक्त बिताने से स्टूडेंट्स के अंदर से हार्मोन की कमी होती है। जिससे उनकी मेंटल हेल्थ को काफी ज्यादा फायदा मिलता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.