Loading...

हुआ बड़ा खुलासा, आखिर विश्व कप में धवन-शंकर के चोटिल होने पर क्यों भेजा गया था पंत और मयंक अग्रवाल को

0 6

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने विश्व कप में चोटिल खिलाड़ियों की जगह भेजे गए विकल्प को लेकर मत स्पष्ट किया. प्रसाद ने यह भी कहा कि बीसीसीआई खिलाड़ियों के विकल्प के संबंधित विज्ञप्ति वेबसाइट पर नहीं डाल पाई. जब शिखर धवन चोटिल हो गए तो उनकी जगह ऋषभ पंत को इंग्लैंड भेजा गया, जिसकी वजह से कई सवाल खड़े हुए थे.

विश्व कप के शुरुआती दो मैचों में नंबर चार पर केएल राहुल ने बल्लेबाजी की थी. लेकिन धवन के चोटिल होने के बाद उनको ओपनिंग की जिम्मेदारी सौंप दी गई. जबकि नंबर 4 के लिए विजय शंकर को जिम्मा सौंपा गया. जब विजय शंकर चोटिल होने की वजह से विश्व कप से बाहर हो गए तो उनकी जगह मयंक अग्रवाल को इंग्लैंड भेजा गया.

रविवार को वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम की घोषणा के बाद उन्होंने इस फैसले पर अपनी सफाई दी. प्रसाद ने कहा कि विश्वकप या किसी बड़े टूर्नामेंट के समय में प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करता, जिसकी वजह से संदेह बढ़ गया. जब शिखर धवन चोटिल हो गए तो हमारे पास केएल राहुल ओपनर के रूप में मौजूद थे. लेकिन हमारे पास शीर्ष क्रम में बाएं हाथ का कोई बल्लेबाज नहीं था. टीम प्रबंधन ने बाएं हाथ के बल्लेबाज की मांग की. हमारे पास ऋषभ पंत के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था. इसी वजह से हमने पंत को इंग्लैंड भेजा.

लेकिन विजय शंकर के चोटिल होने पर मयंक अग्रवाल को क्यों शामिल किया गया तो इस पर प्रसाद ने कहा कि इंग्लैंड के विरुद्ध मैच में राहुल फील्डिंग करते समय चोटिल हो गए थे. इससे टीम की चिंता बढ़ गई थी. उस समय एक ई-मेल आया कि हमें बैकअप ओपनर की जरूरत है तो हमने कुछ ओपनरों के प्रदर्शन पर गौर किया. कुछ फॉर्म में थे तो कुछ चोटिल थे. इसके बाद हमने मयंक अग्रवाल को भेज दिया.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.