Loading...

अगर आपका है एक से ज्यादा बैंक अकाउंट तो हो सकती है परेशानी, जानिए क्या हो सकता है नुकसान

0 15

अक्सर ऐसा देखा गया है कि लोग अपनी सारी कमाई को किसी एक बैंक अकाउंट में नहीं रखते हैं, लोग ऐसा करने से बचते हैं। इसी कारण से लोग कई तरह के अलग अलग तरीके अपनाते हैं। हालांकि इनमें जो सबसे आसान तरीका माना जाता है वो है कई बैंको में अकाउंट खोलना।

जी हां, दरअसल लोग ऐसा इसलिए करते हैं ताकि वो किसी भी प्रकार की फ्रॉड की स्थिती से बच जाएं हालांकि ऐसा होता नहीं है। जी हां, दरअसल कई बैंकों में खाता खोलने के बाद आपको कई बड़े नुकसान उठाने पड़ते हैं।

दरअसल इसको एक उदाहरण से समझिए। जी हां, मान लीजिए कि राजेश नामक व्यक्ति के पास कई जीरो बैलेंस वाले सैलरी अकाउंट्स हैं। उसने इन खातों को जब खोला था तब उसे विभिन्न शहरों में अपनी जॉब बदलनी पड़ी थी। इन विभिन्न बैंक खातों से एसआईपी और इएमआई आदि जुड़े होने के कारण वह इन खातों को बंद करने में असमर्थ है।

अब प्रश्न यह उठता है कि वह कैसे अपने बैंक खातों की संख्या को कम कर सकता है। या अगर वो ऐसा नहीं करता है तो क्या राजेश को इतने सारे खातों से कोई लाभ होगा या नहीं होगा। दरअसल आपको बता दें कि इस तरह के सवाल हर उस व्यक्ति के दिमाग में आ सकते हें जो अपने कई सारे अकाउंट होने से परेशान है।

Loading...

दरअसल ऐसा देखा गया है कि ज्यादा बैंक खातों का उपयोग कई लोग अपनी आय को टैक्स से बचाने के लिए करना चाहते हैं, लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज के दौर में इसका कोई फायदा नहीं हैं।

दरअसल ऐसा इसलिए है क्योंकि इस डिजिटल युग में, राजेश के पैन कार्ड से उसके सारे बैंक खाते लिंक हो जाएंगे, जिससे आयकर विभाग कभी भी आपके खातों की जांच कर सकता है। दरअसल आपको बता दें कि क्रेडिट सूचना ब्यूरो पहले से ही पैन के जरिए सभी बैंकों में अपने ऋण को जोड़ रहा है। इसलिए 2 या 3 खातों को छोड़कर राजेश को अपने दूसरे सभी बैंक अकाउंट बंद कर देने चाहिए।

आपको बता दें कि अगर किसी खाते में एक निश्चित अवधि तक कोई गतिविधि नहीं हो, तो बैंक ऐसे खाते को या तो निष्क्रिय कर देते हैं और निष्क्रिय के रूप में चिन्हित कर देते हैं। इसके अलावा यदि किसी खाते में एकमात्र लेनदेन मौजूदा शेष राशि पर ब्याज का आवधिक क्रेडिट है, तो ऐसे खातों को भी निष्क्रिय माना जाता है। ऐसे में अगर राजेश उस पैसे का उपयोग करना चाहता है, तो उसे उस खाते को फिर से एक्टिव करना पड़ेगा।

दरअसल राजेश के लिए सबसे सरल उपाय यह है कि उसके पास कोई एक मुख्य परिचालन खाता हो, जिसमें वह अपने सैलरी अकाउंट से पैसा ट्रांसफर कर सके। बता दें कि वह अपने सभी निवेश और भुगतान को इस मुख्य खाते से जोड़ सकता है।

दरअसल अब जब भी उसकी की नई जॉब लगे तो उसे अपने मुख्य खाते में एक इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर सेट करना होगा। बता दें कि तब वह आसानी से अपने पुराने बैंक खातों को बंद कर सकता है। इससे कोई व्यर्थ की परेशानी भी नहीं खड़ी होगी और उसका जीवन भी पहले से काफी आसान हो जाएगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.