Loading...

क्रिकेट को खेल नहीं मानती विश्व की ये महाशक्ति, आधिकारिक रूप से कर दी घोषणा

0 7

हाल ही में विश्व कप टूर्नामेंट खत्म हुआ है. विश्व कप के दौरान क्रिकेट प्रशंसकों के ऊपर क्रिकेट का खुमार छाया रहा. इंग्लैंड की टीम विश्व कप की विजेता बनी. लेकिन विश्वकप खत्म होने के एक हफ्ते बाद ही दुनिया के सबसे बड़े देशों में शुमार रूस ने क्रिकेट को खेल मानने से इंकार कर दिया. उसने आधिकारिक रूप से घोषणा कर दी है कि वह क्रिकेट को खेल का दर्जा नहीं देते.

रूस के खेल मंत्रालय ने क्रिकेट को खेल मानने से इंकार कर दिया, जिसका मतलब है कि रूस सरकार किसी भी तरह से क्रिकेट को आर्थिक सहयोग नहीं देगी. एक सरकारी पत्र में क्रिकेट के अलावा म्यूथाई, बॉक्सिंग का एक रूप जिसका जन्म थाईलैंड में हुआ, उसे भी खेल मानने से इंकार कर दिया गया.

रूस में 1870 से खेला जा रहा है क्रिकेट

फुटबॉल के बाद दुनिया का दूसरा सबसे लोकप्रिय खेल क्रिकेट है, जिसको रूस में खेल का दर्जा नहीं दिया. सबसे बड़ी बात तो यह है कि रूस में 1870 से क्रिकेट खेला जा रहा है. 2017 में रूस आईसीसी का एसोसिएट मेंबर बना.

Loading...

इन खेलों को मिला है खेल का दर्जा

रूस में दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेलों में से एक क्रिकेट को खेल का दर्जा नहीं दिया जाता. जबकि फुटगोल्फ़, स्पोर्ट्स योगा, मॉडल प्लेन फ़्लाइंग, डार्ट्स, और कोर्फबॉल को खेल होने का दर्जा प्राप्त है. इन खेलों के बारे में दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में जानकारी भी नहीं है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.