Loading...

क्रिकेट के नियमों में हुए दो बड़े बदलाव, जिससे कप्तानों को होगा फायदा, नहीं रहेगा सस्पेंड होने का डर

0 2

आने वाले समय में आपको क्रिकेट मैच में काफी बडे बदलाव देखने को मिलेंगे. आईसीसी ने क्रिकेट के कुछ नियमों को बदल दिया है. हाल ही में लंदन में आईसीसी की सालाना कांफ्रेंस हुई, जिसमें स्लो ओवर रेट की वजह से कप्तानों के लिए जो सजा निर्धारित की गई थी, उसमें बदलाव कर दिया गया है. अब स्लो ओवर रेट के लिए केवल कप्तान को ही नहीं, बल्कि पूरी टीम को सजा मिलेगी. अब कप्तान के सस्पेंड होने का डर नहीं रहेगा.

आईसीसी ने नियम बनाया है कि स्लो ओवर रेट के लिए टीम के कप्तान के साथ सभी खिलाड़ियों पर बराबर जुर्माना लगेगा. आईसीसी के नए नियम के मुताबिक, स्लो ओवर रेट की सजा में बदलाव किया गया है. अब कप्तानों को सस्पेंड होने का डर नहीं रहेगा. लेकिन धीमी गति से ओवर करने पर आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान खिलाड़ियों के अंक काटे जाएंगे.

अभी तक जो नियम था, उसके मुताबिक स्लो ओवर रेट के लिए कप्तान पर मैच फीस का 50% जुर्माना लगता था, जबकि बाकी खिलाड़ियों को 10-10% जुर्माना देना पड़ता था. लेकिन अगर वह तीन मैचों में लगातार ऐसा करते हैं तो कप्तान पर बैन लग जाता था. हालांकि अब नए नियम से कप्तान को राहत मिलेगी.

एक और नियम में हुआ बदलाव

Loading...

गेंद से चोटिल होने वाले खिलाड़ी की जगह दूसरा खिलाड़ी ले सकता है. यह नियम ऐशेज सीरीज से लागू हो जाएगा. आईसीसी ने बताया कि जैसा खिलाड़ी होगा, उसका सब्सीट्यूट भी वैसा ही होना चाहिए. यानी गेंदबाज की जगह गेंदबाज और बल्लेबाज की जगह बल्लेबाज. इस तरह के बदलाव के लिए मैच रेफरी की मंजूरी जरूरी होगी. यह नियम 1 अगस्त से लागू होगा.

2017 से शुरू की थी टेस्टिंग

आईसीसी ने इसके लिए घरेलू स्तर पर परीक्षण की शुरुआत 2017 में की. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने पुरुष और महिला वनडे और बीबीएल में इस लागू किया. पिछले कुछ सालों में इस तरह की कई घटनाएं हुई जब खिलाड़ी के सिर पर गेंद लगने से वह चोटिल हो गए. ऐसे में टीमों को कम खिलाड़ियों के साथ रहने को मजबूर होना पड़ता था. इसी वजह से यह फैसला हुआ.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.