Loading...

एशेज सीरीज में ICC लागू कर सकती है नया नियम, मैच के दौरान खिलाड़ी के चोटिल होने पर बल्लेबाजी और गेंदबाजी भी कर सकेगा सब्सीट्यूट

0 2

आईसीसी क्रिकेट को सुरक्षित बनाने के लिए अगले महीने से शुरू होने वाली एशेज सीरीज के दौरान सिर में चोट लगने की वजह से भी बेहोशी की स्थिति में स्थानापन्न खिलाड़ी रखने की शुरुआत कर सकती है और इसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के अन्य प्रारूपों में भी लागू किया जा सकता है. जब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज की गेंद लगने से मौत हो गई थी, उसके बाद से ही आईसीसी के लिए किसी खिलाड़ी के बेहोश होने पर स्थानापन्न खिलाड़ी रखने का मुद्दा बना हुआ है.

2014 में फिल ह्यूज शैफील्ड शील्ड मैच के दौरान सिर में चोट लगने से घायल हो गए और कुछ समय बाद उनकी मौत हो गई. ईएसपीएनक्रिकइन्फो की खबर के मुताबिक, यह मुद्दा लंदन में चल रहे आईसीसी वार्षिक सम्मेलन में शामिल है और खेल की परिस्थितियों में बदलाव को मंजूरी देकर जल्द ही उन्हें लागू भी किया जा सकता है. ताकि एशेज सीरीज से शुरू होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में सुरक्षा के नियमों के तहत खेला जा सके.

फिलिप ह्यूज की मौत के बाद आईसीसी ने 2017 में घरेलू स्तर पर परीक्षण के तौर पर सिर में लगने वाली चोट से बेहोश होने वाले खिलाड़ियों की जगह स्थानापन्न खिलाड़ी उतारने की शुरुआत की थी. शैफील्ड शील्ड में इसे लागू करने के लिए मई, 2017 तक आईसीसी की मंजूरी का इंतजार करना पड़ा. बता दें कि इस साल की शुरुआत में श्रीलंका की टीम जब ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर गई थी तो उस दौरान कुसाल मेंडिस और दिमुथ करुणारत्ने सिर पर गेंद लगने से चोटिल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया और केवल करुणारत्ने को ही आगे खेलने की अनुमति मिली थी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.