Loading...

अब हेल्थ को डिजिटल के दायरे में लाएगी मोदी सरकार, जारी करेगी ये कार्ड

0 3

अब आधार की तरह आपका हेल्थ भी डिजिटल हो जाएगा. जी हां, दरअसल मोदी सरकार हेल्थ को डिजिटल के दायरे में लाने के लिए बड़े प्लान पर काम करना शुरू कर दिया है. बता दें कि सरकार जल्द ही इस पर एक प्रस्ताव ला सकती है.

मालूम हो कि नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन यानी NDHM ने देश के नागरिकों के स्वास्थ्य को ट्रैक करने के लिए डाटा मैपिंग सिस्टम का प्रस्ताव दिया है. दरअसल यूआडीएआई के पहले अध्यक्ष जे सत्यनारायण ने सुझाव दिया है कि नया डाटा बेस आधार की तरह होगा.

बीमारियों का डाटा संग्रह होगा

मालूम हो कि बिजनेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस प्रस्तावित सिस्टम में मरीजों की सभी बीमारियों का डाटा संग्रह किया जाएगा और साथ ही सभी हेल्थ सर्विस कंपनियों को इससे जोड़ा जाएगा. दरअसल इस मसौदे को परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर सार्वजनिक रूप से देखा जा सकता है और जहां आप 4 अगस्त तक अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं.

Loading...

एक क्लिक पर मिल जाएगी जानकारी

आपको बता दें कि सरकार की दरअसल ये योजना है कि नागरिकों को सहज तरीके से सही इलाज दिया जा सके. बता दें कि इस रिकॉर्ड में व्यक्ति की व्यक्तिगत पहचान के साथ-साथ हेल्थ का पूरा ब्योरा होगा.

इस योजना की खास बात यह होगी कि इसमें मरीज को एक क्लिक में खुद के स्वास्थ्य से संबंधित सारी जानकारी मिल जाएगी. उसे कोई जांच रिपोर्ट लेकर नहीं घूमना होगा और न ही बार-बार डॉक्टर को समझाना पड़ेगा की उसे हेल्थ सें संबंधित कौन सी दिक्कत कब हुई. बता दें कि इसे मोबाइल फोन के जरिए भी ऑपरेट कर सकते हैं. दरअसल इसे यूनिक हेल्थ आइडेंटीफायर के जरिए एक्सेस किया जाएगा.

डेटा रहेगा सुरक्षित

आपको बता दें कि इसमें पर्सनल डाटा खासकर बीमारियों से संबंधित जानकारियों सार्वजनिक होने का बड़ा खतरा है. ऐसे में इस योजना से जुड़े लोगों का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय मानकों के आधार पर डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा. उनक मानना है कि जो नंबर नागरिकों को दिया जाएगा उसके जरिए लोग केवल अपनी ही जानकारियों तक पहुंच बना पाएंगे और किसी की निजता खतरे में नहीं आएगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.