Loading...

अब बीमा पॉलिसी को बंद कराना या बंद पॉलिसी को फिर से चालू कराना होगा आसान, लागू हुए नए नियम

0 20

बीमा पॉलिसी के संबंध में अब नए नियमों ने कदम रख दिए हैं। जी हां, दरअसल भारतीय बीमा विनियामक प्राधिकरण यानी कि इरडा ने बीमा पॉलिसी के संबंध में नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। आपको बता दें कि इसके लागू होते ही बीमा योजना को बंद करना या बंद पॉलिसी को दोबारा चालू करना आसान हो जाएगा।

दरअसल ऐसे में बीमाधारक को 7 साल तक पॉलिसी चलाने के बाद बंद करने पर 90% तक पैसा वापस मिल जाएगा। वहीं दूसरी तरफ बीमाधारक की मौत होने पर न्यूनतम सम एश्योर्ड सालाना प्रीमियम के 7 गुना से कम नहीं होगा, जो कि पहले तक 10 गुना था।

इमरजेंसी में कर सकेंगे 25% की आंशिक निकासी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिंदुस्तान अखबार की एक खबर के मुताबिक बीमित राशि कम होने से मोर्टेलिटी लागत भी कम होगी, जिससे ज्यादा पैसों का इन्वेस्टमेंट किया जाएगा और बेहतर रिटर्न मिलेगा। दरअसल इरडा ने बंद पड़ी बाजार से जुड़ी बीमा पॉलिसी को दोबारा शुरू कराने की अवधि 2 से 3 वर्ष, और पारंपरिक बीमा उत्पादों के लिए 5 साल कर दी है।

Loading...

इसके अलावा अगर कोई लिंक्ड पॉलिसी रिवाइवल करानी है, तो आपको बीमा कंपनी के पास इसे 3 साल के अंदर दोबारा शुरू करने का विकल्प मिलेगा। मालूम हो कि अगर कोई यूलिप बीमा पॉलिसी के साथ राइडर लेता है, तो यह पैसा उसकी एनएवी से नहीं काटा जाएगा, बल्कि प्रीमियम के रुप में वसूला जाएगा।

इतना ही नहीं, इरडा के नए नियमों के बाद अब आप पेंशन उत्पादों में ज्यादा आंशिक निकासी कर सकेंगे। जी हां, दरअसल किसी आपात स्थिति में 25% आंशिक निकासी कर सकेंगे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.