Loading...

3 ऐसे बड़े कारण जिनकी वजह से महेंद्र सिंह धोनी को अब ले लेना चाहिए संन्यास

0 3

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने भारत को आईसीसी कि तीनों बड़ी ट्रॉफी भारत के नाम की है। इतना ही नहीं अब भारतीय टीम में शायद ही उनके जैसा कोई मैच फिनिशर देखने को मिलेगा उनका हेलीकॉप्टर शॉट और उनका सही समय पर सही निर्णय लेने की क्षमता उनको सबसे ज्यादा खास बनाती है उनके बेहतरीन खेल के लिए उनके दर्शक उनको हमेशा याद करेंगे। हालांकि वर्ल्ड कप के दौरान कई बार ऐसे पल आए जहां उनके ऊपर सवाल उठाया गया। इस समय अब धोनी को संन्यास ले लेना चाहिए। इतना ही नहीं कई बार मैच के दौरान उनकी आंखों में आंसू भी देखे गए। लेकिन फिर भी कुछ लोगों का मानना है कि उन्हें अभी भी क्रिकेट खेलना चाहिए। खासकर के आगामी वर्ल्ड कप तक लेकिन उनके विरोधियों का मानना है कि को अब संयास ले लेना चाहिए जिसके पीछे उन्होंने यह तीन कारण दिए हैं इन कारणों के बारे में।

पहले की तरह नहीं है एमएस धोनी

इंडियन क्रिकेट टीम के बेहतरीन खिलाड़ी धोनी ने क्रिकेट की पिच पर कई बार शानदार पारियां खेलकर भारतीय टीम को जीत दिलाई है। साल 2005 में पाकिस्तान के विरुद्ध की गई उनकी आतिशी पारी और साल 2011 के वर्ल्ड कप के दौरान श्रीलंका के विरुद्ध खेला गया। फाइनल मैच के दौरान खेली गई जिताऊ पारी उनके करियर की सबसे महत्वपूर्ण पारियों में से एक है। हालांकि अब कई लोगों का मानना है कि उनकी बढ़ती उम्र ने उनको वह धीमा कर दिया है। अब वह पहले जैसा खेल नहीं खेल पाते हैं। इसका सबसे बड़ा नजारा हमें वर्ल्ड कप 2019 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच सेमीफाइनल में देखने को मिला।

Loading...

रिप्लेसमेंट पर मौजूद है कई खिलाड़ी

आपको बता दें कि इसका सबसे बड़ा और दूसरा कारण यह है कि अगर धोनी भारतीय क्रिकेट टीम से सन्यास लेने की घोषणा करते हैं। तो उनके रिप्लेसमेंट पर कई सारे ऐसे खिलाड़ी मौजूद हैं। जो उनकी जगह को ले सकते हैं। जिसमें ऋषभ पंत का नाम सबसे आगे है। पंत ने टेस्ट क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन किया है और वह एक शानदार बल्लेबाज के साथ विकेटकीपर भी है। हालांकि पंत अभी धोनी की तरह परिपक्व नहीं है। लेकिन पंथ के पास काफी समय मौजूद है और वह मैच खेलते खेलते अपने खेल में निखार ले आएंगे।

युवाओं को मौका देना चाहिए

एम एस धोनी ने जब भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी शुरू की थी। उन्होंने इस बात को कहा था कि वह भारतीय टीम में युवाओं को मौका देना चाहते हैं। यही कारण है कि उनके कप्तान बनते ही राहुल द्रविड़ सौरव गांगुली जैसे बेहतरीन उम्र दराज किक्रेटर ओं का करियर थम सा गया था। ऐसे में जब खुद धोनी की उम्र लगातार बढ़ रही है तो उन्हें भी अब युवाओं के साथ न्याय करते हुए सन्यास की घोषणा कर देनी चाहिए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.