Loading...

ओवरथ्रो विवाद पर पहली बार ICC की तरफ से आया बयान, कह दी इतनी बड़ी बात

0 2

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हुए फाइनल मैच में कई विवाद हुए, जिसकी वजह से क्रिकेट जगत को शर्मसार होना पड़ा। क्रिकेट विशेषज्ञ और दिग्गजों ने आईसीसी को निशाना बनाया और आईसीसी के नियम की धज्जियां उड़ा दी। फाइनल मुकाबले में विजेता टीम की घोषणा सबसे ज्यादा बाउंड्री के आधार पर की गई। इतना ही नहीं फाइनल मुकाबले में ओवरथ्रो पर इंग्लैंड को अतिरिक्त रन दिए गए जिससे के प्रति लोगों ने गुस्सा जाहिर किया।

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था जिसका सुपर ओवर भी टाई रहा। हालांकि सबसे ज्यादा बाउंड्री लगाने वाली इंग्लैंड की टीम को विजेता घोषित कर दिया गया। इस मुकाबले में ओवरथ्रो पर इंग्लैंड की टीम को 6 रन दिए गए जबकि नियम के मुताबिक 5 रन मिलने चाहिए थे। यही कारण रहा कि यह मैच इंग्लैंड के पक्ष में चला गया।

ओवरथ्रो पर पहली बार आईसीसी के प्रवक्ता ने बयान दिया है और बताया है कि यह किसी निर्णय पर टिप्पणी करने की नीति के विरुद्ध है।

आईसीसी के प्रवक्ता ने बताया कि आईसीसी रूल बुक में दिए गए नियम की व्याख्या के आधार पर ही फील्ड में मौजूद अंपायर निर्णय लेता है। forxsports.com.au को दिए गए इंटरव्यू में प्रवक्ता ने बताया कि हम पॉलिसी के तहत इस बारे में टिप्पणी नहीं कर सकते।

Loading...

बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड की टीम ने पहली बार वर्ल्ड कप जीता। इस मुकाबले के बाद पूर्व अंपायर सिमोन टॉफेल ने पुष्टि की है कि डाईव लगाते समय गेंद बेन स्टोक्स के बल्ले से टकरा गई और फिर इंग्लैंड को एक एक्स्ट्रा रन दिया गया। यह बयान सामने आने के बाद लोगों में आक्रोश का माहौल है।

पूर्व अंपायर ने बताया कि ऑन फील्ड अंपायर ने इंग्लैंड को 5 की जगह 6 रन देकर बहुत बड़ी गलती कर दी। उन्होंने बताया कि आईसीसी के नियम 19.8 के अनुसार इंग्लैंड को 5 रन से मिलने चाहिए थे। नियम के मुताबिक एक एक्स्ट्रा रन तब दिया जाता है जब बल्लेबाज फील्डर के थ्रो सेपहले क्रॉस कर ले। हालांकि मार्टिन गुप्टिल के थ्रो करने तक बेन स्टॉक और आदिल राशिद क्रॉस नहीं कर सके थे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.