Loading...

नितिन गडकरी बोले- अगर अच्छी क्वालिटी की सड़कें चाहिए तो टोल चुकाना ही होगा

0 8

अगर लोगों को बेहतर क्वालिटी की सड़क चाहिए तो उन्हें इसके लिए भुगतान करना ही होगा. दरअसल यह कहना था सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के लिए अनुदान मांग पर चर्चा कर रहे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का. उन्होंने ये साफ किया कि टोल सिस्टम जारी रहेगा क्योंकि सरकार के पास पर्याप्त पैसा नहीं है.

उन्होंने कहा कि टोल के पैसा का इस्तेमाल ग्रामीण और पहाड़ों के सड़को के निर्माण में लगाया जाता है. इसलिए जिन इलाकों में टोल लिया जा सकता है लिया जाना चाहिए. गडकरी ने कहा कि टोल जिंदगी भर बंद नहीं हो सकता, हां कम ज्यादा हो सकता है.

5 साल में हुआ 40 हजार किमी हाइवे का निर्माण

आपको बता दें कि नितिन गडकरी अपने मंत्रालय के लिए अनुदान की मांग पर चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि पिछले 5 साल में सरकार ने 40 हजार किलोमीटर हाइवे का निर्माण हुआ है.

Loading...

संसद में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दिया ये बड़ा बयान

दरअसल गडकरी ने कहा कि उन इलाकों में टोल लिया गया जहां लोगों की देने की क्षमता है. उन्होंने बताया कि इस राशि का इस्तेमाल ग्रामीण और पहाड़ी इलाकों में सड़कें बनाने के लिए किया जा रहा है.

सरकार बनाएगी ग्रीन एक्सप्रेस वे

आपको बता दें कि नितिन गडकरी ने संसद को यह बताया है कि सड़क परिवहन मंत्रालय दिल्ली से मुंबई के बीच ग्रीन एक्सप्रेस-वे की योजना पर काम कर रहा है.

मालूम हो कि इसके जरिए दिल्ली से मुंबई की दूरी 12 घंटे में तय करना संभव हो पाएगा. बता दें कि यह राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के अति पिछड़े और आदिवासी इलाकों से होकर गुजरेगा. दरअसल इससे जमीन अधिग्रहण के 16 हजार करोड़ रुपए भी बचेंगे.

नितिन गडकरी ने संसद को बताया है कि सड़क परिवहन मंत्रालय दिल्ली से मुंबई के बीच ग्रीन एक्सप्रेस-वे की योजना पर काम कर रहा है.

बता दें कि सड़क निर्माण में जमीन अधिग्रहण को प्रमुख समस्या बताते हुए गडकरी ने कहा कि राज्य सरकारों को इसका समाधान तलाशना चाहिए. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि पश्चिम बंगाल और बिहार में अधिग्रहण की रफ्तार बहुत धीमी है.

दरअसल गडकरी का कहना है कि जब साल 2014 में उन्होंने मंत्रालय संभाला था तब 3.85 लाख करोड़ के 403 प्रोजेक्ट बंद पड़े थे।

उनके अनुसार, मोदी सरकार ने इन पर काम शुरू कर बैंकों के 3 लाख करोड़ रुपए के के एनपीए बचाए. अब 90% प्रोजेक्ट तेजी से आगे बढ़ रहे हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.