Loading...

भारतीय टीम को मध्यक्रम को करना है मजबूत तो इन 3 युवा बल्लेबाजों को करना चाहिए तैयार

0 10

वर्ल्ड कप 2019 भारतीय टीम के लिए उनकी उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा है। सभी लोग भारतीय टीम से कम से कम फाइनल में पहुंचने की उम्मीद लगा कर बैठे थे। न्यूजीलैंड में भारतीय टीम को सेमीफाइनल से बाहर कर दिया। जिसके चलते सभी भारतीय दर्शकों का दिल टूट गया। आपको बता दें कि इस पूरे विश्व कप के दौरान भारत की सबसे कमजोर कड़ी उसका मध्यक्रम था। विजय शंकर दिनेश कार्तिक हार्दिक पांड्या ऋषभ पंत तथा एमएस धोनी जैसे बड़े खिलाड़ियों के होने के बावजूद भारतीय क्रिकेट टीम के मध्यक्रम वर्ल्ड कप के दौरान रन बनाने के लिए लगातार मेहनत करता रहा। हालांकि इंडियन क्रिकेट टीम बिल्ड वर्ल्ड कप तो गवां चुकी है। लेकिन अब आने वाले वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम को अपने मध्यक्रम की कमजोरी को दूर करना होगा। ताकि वो अपने मध्यक्रम के चलते बाकी मैचों के दौरान हार का सामना ना करें। हाई आज इस आर्टिकल में हम आपको तीन खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं जिन्हें भारतीय टीम के मध्यक्रम के लिए तैयार किया जा सकता है।

श्रेयस अय्यर

मुंबई के युवा बल्लेबाज सुरेश अय्यर को घरेलू क्रिकेट की सबसे बेहतरीन प्रतिभाओं में से एक माना जाता है। आपको बता दें इस खिलाड़ी ने आईपीएल के साथ साथ इंडिया ए के लिए भी शानदार प्रदर्शन किया है। वह भारत के लिए नंबर चार पर बल्लेबाजी करने का एक अच्छा विकल्प हो सकते हैं। अय्यर भारत के लिए पहले भी वनडे क्रिकेट में अपना डेब्यू कर चुके हैं। उन्होंने छह मैचों के दौरान 42 की औसत से 210 रन बनाए थे।

Loading...

शुभमन गिल

इंडियन क्रिकेट टीम ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था । और इस दौरान पंजाब के युवा खिलाड़ी शुभमन गिल ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपनी एक अलग पहचान बनाई थी। अंडर-19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करने के बाद उनको आईपीएल के लिए ऑफर मिला। कोलकाता नाइट राइडर्स ने 2018 में शामिल किया था। आपको बता दें इस खिलाड़ी ने अपने आईपीएल करियर में 27 मैच खेले हैं। जिसमें से उन्होंने 32 से ज्यादा की औसत से 499 रन अपने नाम की है। गिल भारतीय टीम के लिए मध्यक्रम के बल्लेबाजों में एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकते।

ऋषभ पंत

पंथ के पास वर्ल्ड कप 2019 में सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान न्यूजीलैंड के खिलाफ खेल कर बेहतरीन प्रदर्शन करके खुद को साबित करने का एक शानदार मौका था। लेकिन इस मौके को उन्होंने गैर जिम्मेदाराना शॉट खेलकर अपने हाथ से गवा दिया। आपको बता दें कि पंत ने भारत के लिए नंबर चार पर बल्लेबाजी करते हुए 4 मैचों में लगभग 30 की औसत से 116 रन अपने नाम किए हैं। जो कि उनके जैसे खिलाड़ी के हिसाब से बेहतर नहीं है। हालांकि पंत अभी 21 साल के हैं और उनका पूरा क्रिकेट करियर अभी बाकी है। पंत के बारे में कहा जाता है कि धोनी के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के लिए विकेटकीपर की ज़िम्मेदारी संभाल सकते हैं प्रबंधन थोड़ा सा ध्यान दे तो आने वाले समय में भारत के लिए एक जिताऊ बल्लेबाज साबित हो सकते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.