Loading...

क्या आप जानते हैं कि चेक बुक पर छपे हुए नंबरों का क्या मतलब होता है, अगर नहीं तो जानिए

0 38

अगर आपका बैंक में अकाउंट है तो जाहिर है कि चेक बुक के बारे में तो आप जानते ही होंगे. दरअसल आप में से कई लोगों ने किसी के लिए चेक इश्यू किया होगा तो किसी को चेक मिला होगा. ऐसे में अगर आपसे पूछा जाए कि चेक पर क्या-क्या होता है तो आप क्या जवाब देंगे. दरअसल एक चेक पर अमाउंट, साइन, नाम आदि, के अलावा भी कई ऐसी जानकारियां रहती हैं, जिनके बारे में आपको पता नहीं रहता है.

दरअसल एक चेक आपके बैंक अकाउंट की पूरी कुंडली सबके सामने ला सकता है. जैसे MICR कोड के शुरू के 3 अंक छोड़कर अगले 3 अंक उस बैंक के बारे में सबकुछ बताते हैं, जो हर बैंक का एक यूनीक कोड होता है. दरअसल इस कोड से आप बैंक का पता लगा सकते हैं. उदाहरण के तौर पर ICICI बैंक का कोड होता है 229 और HDFC का 240.

यही कारण है कि आज हम आपको बता रहै हैं चेक से जुड़ी कुछ बेहद जरूरी एवं रोचक जानकारियां. चलिए जानते हैं इसके बारे में..

चेक नंबर

Loading...

मालूम हो कि चेक नंबर 6 डिजिट का होता है. दरअसल यह आपके चेक बुक की रनिंग सीरीज का नंबर होता है. बता दें कि किसी भी तरह के रिकॉर्ड के लिए सबसे पहले चेक नंबर ही देखा जाता है. अगर आप किसी को चेक इश्यू कर रहे हैं तो सबसे जरूरी चेक नंबर ही है.

MICR कोड

जानकारी के बता दें कि इसका मतलब होता है मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकॉग्निशन. यह नंबर बैंक को उस ब्रांच का पता लगाने में मदद करता है, जिससे चेक इश्यू किया गया है. मालूम हो कि चेक के इस कोड को एक खास चेक रीडिंग मशीन पढ़ती है. दरअसल यह 9 अंकों का एक नंबर होता है, जो चेक के लिए बेहद जरूरी होता है. यह नंबर 3 अलग-अलग भागों में बांटा जाता है.

1- सिटी कोड

आपको बता दें कि MICR कोड के पहले 3 डिजिट सिटी कोड होते हैं. दरअसल यह आपके शहर के पिन कोड के पहले 3 डिजिट के ही होते हैं. इस नंबर को देखकर आप पता लगा सकते हैं कि किस शहर से आपका चेक आया है.

2- बैंक कोड

मालूम हो कि MICR कोड के अगले तीन अंक उस बैंक के बारे में सबकुछ बताते हैं, जो हर बैंक का एक यूनीक कोड होता है. दरअसल इस कोड से आप बैंक का पता लगा सकते हैं. उदाहरण के तौर पर ICICI बैंक का कोड होता है 229 और HDFC का होता है 240.

3- ब्रांच कोड

बता दें कि MICR कोड के आखिरी तीन डिजिट ब्रांच कोड होते हैं. दरअसल हर बैंक का अपना अलग ब्रांच कोड होता है. यह कोड बैंक से जुड़े हर ट्रांजैक्शन में इस कोड का प्रयोग किया जाता है.

बैंक अकाउंट नंबर

मालूम हो कि आपके चेक में मौजूद एक और खास नंबर होता है, जिस पर शायद आपका ध्यान गया हो. दरअसल यह होता है आपका बैंक अकाउंट नंबर. बता दें कि यह नई चेक बुक्स में होता है. पुरानी चेक बुक जो कोर बैंकिंग सॉल्यूशन से पहले प्रिंट की गई थीं, उसमें यह नंबर नहीं होता है.

ट्रांजेक्शन आईडी

बता दें कि आपके चेक के नीचे छपे नंबरों में से अंतिम दो अंक आपकी ट्रांजेक्शन आईडी दिखाते हैं. जैसे 29, 30 और 31 एट पार चेक को दर्शाते हैं और वहीं दूसरी तरफ 09, 10 और 11 लोकल चेक को दर्शाते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.