Loading...

सीख/अगर कभी कोई गलती हो जाए तो दूसरे को ना दें उसका दोष, माफी मांगने में ना करें कोई संकोच

0 8

अगर आप ने अनजाने में ही सही किसी का दिल दुखाया है। तो आपको शर्म के कारण पीछे नहीं छुपना चाहिए। क्योंकि कभी-कभी हम अनजाने मैंने कुछ ऐसा कर बैठते हैं या फिर ऐसा बोल बैठते हैं। जिसकी वजह से हमें बाद में पछतावा होता है। ऐसे कर्मों की वजह से कई बार हम करीबियों को दुख पहुंचाते हैं। तो आइए आज हम आपको बता रहे हैं ऐसी परिस्थितियों के समय हमें क्या करना चाहिए।

दूसरों को ना दें दोष

अपने आप को खुद से माफ करने से पहले यह बात जान लेना चाहिए। कि आखिर आपने किया क्या था। आपके साथ हुई घटना को विस्तार से लिखने और उन बातों को जिसके कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई। किसी और व्यक्ति या परिस्थितियों को दोष देने के बजाय सिर्फ अपने आप पर ध्यान दे।

माफी मांगने में संकोच ना करें बिल्कुल

Loading...

किसी व्यक्ति से माफी मांगना आसान नहीं होता। लेकिन अगर आपने गलती की है। तो आपको उसके लिए पहल भी करनी पड़ेगी और पहल करने के लिए आपको सबसे पहले माफी मांगनी पड़ेगी।

नकारात्मक विचारों से रहें दूर

कभी-कभी ऐसा होता है कि सामने वाला व्यक्ति तो हमें माफ कर देता है। लेकिन हम खुद को माफ नही कर पाते हैं। हालांकि खुद को माफ करना एक बार में संभव नहीं हो पाता है। यह समय के साथ धीरे-धीरे होता है। इसलिए अपने मन से नकारात्मक विचारों को त्याग दें गहरी सांस लें।

शर्म के मारे किसी से ना छुपे

गलती करने के बाद शर्म से झुक जाना बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है। अपनी गलती के बाद हमें अपने खास लोगों से नजरें मिलाने में शर्म आती है। क्योंकि हमें डर लगता है कि कहीं वह मैं पिछली बात पर ना टोक दे।

गलतियों के आभारी

हालांकि अपनी गलतियों के प्रति आभारी होना थोड़ा अजीब जरूर है। खासकर वैसे गलती हो जिनसे आपको शर्मिंदगी हुई हो लेकिन आप गौर से एनालाइज करेंगे तो आप इस बात को देख पाएंगे कि ऐसी की गई गलतियों ने आपको कितना ज्यादा मजबूत बना दिया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.