Loading...

149 साल के बाद गुरु पूर्णिमा पर होगा चंद्रग्रहण, मेष-कर्क राशि के लिए होगा शुभ, जानिए

0 173

16 जुलाई की रात को यानी कि मंगलवार की रात को चंद्र ग्रहण पड़ेगा। भारत में यह दिखाई देगा। इस बार आषाढ़ मास की पूर्णिमा यानी कि गुरु पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण दिखाई दे सकता है। आपको बताते हैं कि भारत के साथ साथ यह ग्रहण ऑस्ट्रेलिया,अफ्रीका ,एशिया, यूरोप और दक्षिण अमेरिका में भी दिखाई देगा। ज्योतिषियों की मानें तो 16 जुलाई 2019 की रात को करीब यह ग्रहण 1:30 से शुरू होगा। इसका मोक्ष 17 जुलाई की सुबह करीब 4:30 पर होगा। यह ग्रहण यानी कि पूरे 3 घंटे तक रहेगा। इतना ही नहीं इस तरह का योग 149 साल पहले बना था।

सभी राशियों पर देखने को मिलेगा इसका असर

मेष राशि

इस राशि के लिए यह ग्रहण काफी ज्यादा शुभ फल देने वाला होगा। इस राशि के लोगों को सफलता के साथ साथ मान-सम्मान भी मिलेगा। इतना ही नहीं इस राशि के लोगों को धन मिलने की भी संभावनाएं हैं।

Loading...

वृषभ राशि

इस राशि के लिए यह काफी ज्यादा बुरा साबित हो सकता हैं। इस समय आपको काफी ज्यादा सावधान रहकर काम करने की आवश्यकता है।

मिथुन राशि

इस राशि के लिए भी है ग्रहण अच्छा नहीं है। इस राशि के लोगों के इस समय पर काम पूरे नहीं होंगे। इतना ही नहीं उनको उनके कर्म के मुताबिक भी फल नहीं मिलेगा।

कर्क राशि

इस राशि के लिए लोगों कार्य समय काफी ज्यादा शानदार रहेगा। काम जल्दी जल्दी पूरे होंगे और वातावरण ही सुखद रहेगा।

सिंह राशि

यह चंद्र ग्रहण राशि को तनाव देखा जा सकता है। मानसिक परेशानी की वजह से किसी काम में भी मन नहीं लगेगा। अपने मन को शांत रखें।

कन्या राशि

इस राशि के लोगों की चिंताएं बढ़ सकती है। नौकरी में अधिकारियों का सहयोग भी नहीं मिलेगा। जिसके चलते मन उदास रहेगा।

तुला राशि

आपके लिए समय काफी ज्यादा अनुकूल है। इतना ही नहीं यह समय आपको लाभ देकर जाएगा। सोचे हुए काम समय पर पूरे हो जाएंगे।

धनु राशि

इस राशि के लोगों को अपने काम करते समय सतर्कता बरतनी पड़ेगी। कोई भी करीब इन को धोखा दे सकता है।

मकर राशि

इस राशि के लोगों को इस समय काफी ज्यादा संघर्ष करना पड़ेगा। इस समय किसी भी अनजान व्यक्ति पर भरोसा ना करें।

कुंभ राशि

इस राशि के लोगों के लिए यह समय काफी ज्यादा अच्छा है। इस समय इनको तरक्की मिल सकती है।

मीन राशि

इस राशि के लोगों को इस समय किसी लंबी यात्रा पर जाना पड़ सकता है। हालांकि में यात्रा से लाभ मिलेगा और भविष्य को लेकर यह कुछ भी रहेंगे।

सूतक का समय

आपको बता दें चंद्र ग्रहण का सूतक करीब 9 घंटे पहले से शुरू हो जाता है। सूर्य ग्रहण का सूतक करीब 12 घंटे पहले से शुरू हो जाता है। 1:30 से शुरू हो जाएगा जो 17 जुलाई सुबह 4:30 तक रहेगा।

करें पूजा पाठ

16 जुलाई को गुरु पूर्णिमा होने की वजह से विशेष पूजा पाठ करने की परंपरा है। इस दिन अपने गुरु की पूजा की जाती है। इसीलिए इसे पूजन का समय 1:30 से पहले का होना चाहिए। क्योंकि इसके बाद आप का सूतक काल शुरू हो जाएगा। जिसके कारण पूजा-पाठ नहीं हो पाएगी।

ग्रहण के दौरान ग्रहों की स्थिति

शनि और केतु ग्रह के दौरान चंद्र के साथ धनु राशि में प्रवेश करेंगे। इससे ग्रहण का प्रभाव और अधिक बढ़ जाएगा सूर्य के साथ राहु और शुक्र रहेंगे। सूर्य और चंद्र विपरीत शुक्र शनि राहु और केतु के घेरे में रहेंगे। मंगल नीच का रहेगा इंद्रियों की वजह से तनाव बढ़ सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.