Loading...

मिट्टी के मटके या सुराही को बना दीजिए बिल्कुल AC जैसी हवा देने वाला कूलर, इसमें पानी का भी होगा कम यूज, जानिए कैसे

0 275

गर्मियों के सीजन ने अब दस्तक दे दी है। लोगों ने भी इसको लेकर के इंतजाम करना प्रारंभ कर दिया है। लोग कूलर एवं ऐसी को निकालने लगे हैं ताकि भीषण गर्मी के आने से पूर्व वो इसके लिए तैयार रहे। इसके आलावा लोगों ने फ्रिज में ठंडा पानी रखना भी प्रारंभ कर दिया है ताकि इस भीषण गर्मी से राहत मिले। वैसे लोग मटके एवं सुराही का भी इस्तेमाल इस गर्मी से राहत पाने के लिए करते हैं।

लेकिन क्या आपको पता है कि मिट्टी के मटके और सुराही का इस्तेमाल आप वाटर एयर कूलर के रूप में भी कर सकते हैं। दरअसल इनमें पानी ठंडा होता है। ये दोनों जितने छोटे होते हैं पानी उनता ज्यादा ठंडा करते हैं। ऐसे में कई लोग इनका इस्तेमाल कुछ ऐसे करते हैं।

आपको बता दें कि इन मिनी कूलर की हवा AC के टेम्परेचर के बराबर होती है। दरअसल ऐसे कूलर से निकलने वाली हवा की कूलिंग 14.5 डिग्री तक की होती है। वहीं, AC की मिनिमम कूलिंग 16 डिग्री तक होती है।

Loading...

इसके लिए इन चीजों की पड़ेगी जरूरत

1. मिट्टी की मटका या सुराही

2. AC मिनी फैन

3. होल करने के लिए ड्रिल मशीन

4. पानी की कुप्पी

5. 12 वोल्ट एडॉप्टर

6. पेन, दिया और इंजेक्शन

7. ग्लू स्टिक गन

8. AC स्विच

कूलर बनाने की प्रक्रिया

इसके लिए सर्वप्रथम मिट्टी की सुराही लें। अब इसमें फैन को रखकर पेन से निशान बना लें। ध्यान रहे कि फैन को सुराही के बीच में फिट करना है। इसके बाद उस निशान पर ड्रिल मशीन की मदद से छेद कर लें। अब छेद किए गए पार्ट को बाहर निकाल लें। ठीक इसी तरह फैन के एक साइज AC स्विच के लिए होल कर लें।

इसके बाद अब सुराही में जहां फैन के लिए होल किया है उसके ठीक पीछे ऊपर की तरफ पानी की कुप्पी के लिए होल कर लें। वहीं, उसके पास एक होल एडॉप्टर के वायर के लिए करें। बता दें कि अब नीचे की तरफ छोटे-छोटे कई सारे छेद बना लें।मालूम हो कि इस छेद को सुराही के बेस से 5 इंच ऊपर की तरफ होने चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि ये नीचे की तरफ हुए तब पानी बाहर निकल जाएगा।

बता दें कि अब सुराही में फैन और स्विच को फिट कनेक्शन करके फिट कर लें। इसके साथ ही, इसके कनेक्शन एडॉप्टर से भी कर लें। ध्यान रहे कि एडॉप्टर का वायर छेद से निकालकर कनेक्शन करने हैं। बता दें कि अब इसमें आप कुप्पी को भी हैफंसा लें। साथ ही, सुराही के मुहं पर दिया रखें। इसके पश्चात अब सभी को ग्लू स्टिक की मदद से पैक कर लें।

फिर कुप्पी वाली जगह से सुराही में पानी डालें। ध्यान रखें कि इतना पानी डालें कि वो छोटे-छोटे छेद से निकलने लगे। अब कुप्पी पर इंजेक्शन के बैक हिस्से को निकालकर लगा दें। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे सुराही की हवा बाहर नहीं निकलेगी। थोड़ी देर बाद पानी से सुराही नीचे की तरफ से गीली दिखाई देने लगेगी। बता दें कि अब आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.