Loading...

अगर बैंक, इंश्योरेंस एवं प्रॉपर्टी से संबंधित है आपकी परेशानी तो यहां करें शिकायत, जानें पूरा प्रोसेस

0 3

अगर आप भी उनमें से हैं जिनको अपने बैंक या इंश्योरेंस कंपनी से किसी तरह की शिकायत है और उसके शिकायत निवारण तंत्र में शिकायत करने पर कोई नतीजा नहीं निकल रहा है तो आप इसके लिए इन दोनों सेक्टर से संबंधित ओंबड्समैन के पास शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

जी हां, इसके अलावा अगर प्रॉपर्टी के मामलों में आप रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी से संपर्क कर सकते हैं जो रियल एस्टेट एक्ट के दायरे में आता है। दरअसल आज हम यहां आपको बैंकिंग ओंबड्समैन, इंश्योरेंस ओंबड्समैन और रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी से शिकायत दर्ज करने का आसान तरीका बता रहे हैं। चलिए जानते हैं इसके बारे में..

इंश्योरेंस ओंबड्समैन

बता दें कि सर्वप्रथम आप इंश्योरेंस कंपनी से बात करें उसके बाद ओंबड्समैन से संपर्क करें। शिकायत जरूरी दस्तावेजों के साथ लिखित रूप में होनी चाहिए।

Loading...

अगर इंश्योरेंस कंपनी मदद करने में नाकाम है तो आईआरडीए की शिकायत प्रबंधन प्रणाली यानी कि igms.irda.gov.in से आप शिकायत कर सकते हैं।

इसके अलावा आप ओंबड्समैन से भी संपर्क कर सकते हैं, जिसके अधिकार क्षेत्र में आपका मामला है।

हालांकि अगर आपको लगता है कि ओंबड्समैन से भी कोई नतीजा नहीं निकला है तो कंज्यूमर कोर्ट जा सकते हैं।

रियल एस्टेट विनियामक प्राधिकरण (RERA)

बता दें कि सबसे पहले आप RERA की वेबसाइट पर लॉग इन करें और शिकायतकर्ता के रूप में रजिस्ट्रेशन करें।

आपको ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर जैसी जानकारी दर्ज करनी होगी।

इसके बाद आप अकाउंट्स पर जाएं > माई प्रोफाइल और शिकायत के लिए पूछी गई जानकारी दर्ज करें।

फिर ‘कंप्लेंट डीटेल’ पर क्लिक करें और ‘एड न्यू कंप्लेंट’ का चयन करें।

मालूम हो कि मांगी गई जानकारी जैसे प्रोजेक्ट का रजिस्ट्रेशन नंबर और अन्य जानकारी दर्ज करें।

इसके बाद संबंधित प्रोजेक्ट से जुड़े डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें और अपने मामले की जानकारी दर्ज करें।

बता दें कि कानूनी प्रावधानों को बताते हुए आप जो राहत चाहते हैं उसके बारे में बताएं।

इसके बाद सटीक जानकारी प्रदान करें और जरूरी फीस की ऑनलाइन पेमेंट करें।

मालूम हो कि RERA सहायक अधिकारी मामले की सुनवाई करेगा और एक आदेश जारी करेगा।

बता दें कि अगर आप इससे खुश नहीं हैं तो आप आदेश प्राप्त होने के 60 दिनों के अंदर अपीलेट ट्रिब्यूनल से संपर्क कर सकते हैं उसके बाद हाई कोर्ट ही अगला कदम है।

बैंकिंग ओंबड्समैन

इसके लिए सर्वप्रथम बैंक से शिकायत करें और उन्हें जवाब देने के लिए 30 दिनों का समय दें।

मालूम हो कि अगर बैंक आपकी दिक्कतों को दूर नहीं करता है या उसमें नाकाम रहता है तो बैंकिंग ओंबड्समैन ऑफिस से संपर्क करें, जिसके दायरे में आपका मामला आता है। अब आप cms.rbi.org.in के जरिए ऐसा कर सकते हैं।

दरअसल बैंक की प्रतिक्रिया के बाद 1 साल या 1 साल से अधिक समय न होने दें और शिकायत दर्ज करें।

मालूम हो कि आप बैंकिंग ओंबड्समैन पोर्टल जिसका लिंक ये है: (https: //bankingombuhman.rbi.org.in) इस पर मौजूद फॉर्म डाउनलोड करने के बाद लिखित शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

बता दें कि जरूरी डॉक्यूमेंट्स के साथ आप अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए ऑनलाइन रूट भी चुन सकते हैं (https: // secweb। rbi.org.in/BO/precompltindex.htm)

दरअसल बीओ या तो सुलह करवाकर मामले को सुलझाएगा या अवार्ड पारित करेगा

आपको बता दें कि अगर ओंबड्समैन दिक्कतों को दूर करने में नाकाम रहता है तो अपीलेट अथॉरिटी से संपर्क कर सकते हैं। अगर सब नाकाम रहते हैं तो आपके पास कंज्यूमर कोर्ट में जाने का विकल्प हमेशा खुला रहता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.