Loading...

शव को जलाते समय आखिर क्यों मारा जाता है सिर पर डंडा, जानिए इसका रहस्य

0 400

इंसान का जीवन और मृत्यु हमेशा एक सचाई होती है। कि जो जन्म लेता है उसकी मृत्यु निश्चित होती है। तथा इस जीवन का शाश्वत सत्य है मृत्यु। जिस भी व्यक्ति ने इस धरती पर जन्म लिया हैं उसकी मृत्यु होना निश्चित हैं इंसान की मृत्यु,जगहऔर समय निश्चित होता है। और जीवन का यह जन्म-मृत्यु चक्र इसी तरह चलता रहता हैं जिससे हर जीव गुजरता हैं। हर व्यक्ति की मौत निश्चित हैं लेकिन उसकी इस दुनिया से विदाई के तरीके धर्म के अनुसार अलग-अलग होते हैं। हिन्दू धर्म में शव को जलाकर रीती-रिवाज से विदाई दी जाती हैं। इसी रिवाज में एक है शव के सिर पर डंडा मारने के बारे में। तो आइए जानते है कि आखिर क्यों सिर पर डंडा मारा जाता है।

हिंदू धर्म में शव को जलाते हुए मृतक व्यक्ति के सर पर डंडा मारा जाता है। अब सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर शव के सर पर डंडा क्यों मारा जाता है?

जी हां, मृतक व्यक्ति के सर पर डंडा इसलिए मारा जाता है ताकि अगर मृतक व्यक्ति के पास किसी तरह का कोई तंत्र विद्या होगा तो कोई दूसरा तांत्रिक इस विद्या को चुरा ना ले और उसकी आत्मा को अपने वश में ना कर ले। कोई तांत्रिक उस आत्मा को अपने वश में कर लेने के बाद उससे किसी भी तरह के बुरे कार्यों को अंजाम दे सकता है। इसलिए सिर में डंडा मारकर उसकी दिमाग से वो विद्या मार दी जाती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.