Loading...

हिंदू धर्म के अनुसार मीठे से करनी चाहिए भोजन की शुरुआत, यही कहता है विज्ञान और आयुर्वेद भी

0 22

हिंदू धर्म के अनुसार भगवान को नैवेध के रूप में मीठे का भोग लगाया जाता है। जिसके बाद हम सभी को अपने खाने की शुरुआत भगवान का प्रसाद लेकर ही करनी चाहिए। हालांकि खाने की शुरुआत मीठे से करना काफी ज्यादा शुभ माना जाता है। इस परंपरा के पीछे कई सारे मनोवैज्ञानिक कारण हैं। बताया गया है कि मीठे से खाने की शुरुआत करनी चाहिए। इतना ही नहीं विज्ञान में भी इस बात को कहा है कि खाने की शुरुआत हमेशा मीठे से ही करनी चाहिए।

विज्ञान के मुताबिक

मीठे से भोजन की शुरुआत को करना अच्छा माना जाता है। इतना ही नहीं यह शरीर को स्वस्थ रखने वाली आदतों में से एक है। डाइटिशियन प्रीति शुक्ला के मुताबिक, एक स्वस्थ व्यक्ति को हेल्दी रहने के लिए अपने खाने की शुरुआत हमेशा में कैसे ही करनी चाहिए। ऐसा करने से इंसुलिन सक्रिय रहता है। जिससे भूख खुलती है। या कह सकते हैं कि ऐसा करने से व्यक्ति की खाने में रुचि पैदा होती है।

आयुर्वेद के मुताबिक

Loading...

रिटायर्ड आयुर्वेद जिला चिकित्सा अधिकारी रोशनलाल मोर्य ने इस बात का खुलासा किया है कि आयुर्वेद में 6 तरीके रस बताए हैं। जिसको हमेशा ध्यान में रखते हुए अपने खाने की शुरुआत करनी चाहिए। सबसे पहले मीठा इसके बाद खट्टा चटपटा कड़वा और फिर कसैला भोजन किया जाना चाहिए। इससे पाचन क्रिया व्यवस्थित रहती है। भोजन मीठे से की गई शुरुआत आपको हल्दी बनाती है।

आयुर्वेद के मुताबिक 6 रस

मीठा, खट्टा, नमकीन, चरपरा, कड़वा, कसैला आदि।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.