Loading...

कार्तिक क्यों खेले? रायडू को क्यों नहीं दिया गया मौका, CoA रिव्यू मीटिंग में शास्त्री-कोहली को देना पड़ेगा जवाब

0 9

क्रिकेट के महाकुंभ एकदिवसीय विश्वकप में भारत सेमीफाइनल में हारकर अब बाहर हो चुका है और इसके साथ ही भारत का तीसरी बार विश्वविजेता बनने का सपना भी टूट गया है. बता दें कि फिलहाल अब पूरे टूर्नामेंट की कमिटी आफ एडमिनिस्ट्रेशन यानी कि CoA रिव्यू मीटिंग करेगा.

दरअसल इस मीटिंग में कप्तान कोहली के साथ कोच शास्त्री भी शामिल होंगे. इसमें रायडू को न बुलाए जाने से लेकर धोनी को नंबर 7 पर खिलाने को लेकर कोहली और शास्त्री को जवाब देना पड़ सकता है.

जानिए इस कमिटी में कौन होंगे

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मीडिया के अनुसार उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति विश्व कप में भारत के प्रदर्शन की कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के साथ समीक्षा करके अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप के लिये खाका तैयार करेगी.

Loading...

इसके अलावा वहीं विनोद राय की अध्यक्षता वाली समिति प्रमुख चयनकर्ता एमएसके प्रसाद से भी बात करेगी. बता दें कि इस समिति में डायना एडुल्जी और रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल रिव थोडगे भी हैं.

राय बोले बैठक जरूर होगी

दरअसल राय ने कहा कि कप्तान और कोच के ब्रेक से लौटने के बाद बैठक जरूर होगी. मैं तारीख और समय नहीं बता सकता लेकिन हम उनसे बात करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि हम चयन समिति से भी बात करेंगे हालांकि इसके आगे ब्यौरा देने से इनकार कर दिया. राय ने कहा कि भारत का अभियान अभी खत्म हुआ है. कहां, कब और कैसे जैसे सवालों का मैं आपको कोई जवाब नहीं दे सकूंगा.

जानिए किन सवालों का देना होगा जवाब

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शास्त्री, कोहली और प्रसाद को कुछ सवालों का जवाब देना पड़ सकता है जो इस प्रकार हैं:

1. आखिरी श्रृंखला तक अंबाती रायुडू का चयन तय था, लेकिन अचानक वह चौथे नंबर की दौड़ से बाहर कैसे हो गए.

2. जब टीम में पहले से ही 3 विकेटकीपर क्यो थे. खासकर दिनेश कार्तिक की क्या जरूरत थी, जो लंबे समय से फार्म में नहीं थे.

3. सेमीफाइनल के मैच में महेंद्र सिंह धोनी को सातवें नंबर पर क्यो उतारा गया.

सूत्रों की मानें तो धोनी को नीचे भेजने का फैसला बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ का था. ऐसे में यह भी पूछा जायेगा कि सहायक कोच के इस फैसले का मुख्य कोच ने विरोध क्यो नहीं किया.

चयन समिति में ये है समस्या

आपको बता दें कि मौजूदा चयन समिति बीसीसीआई की आमसभा की बैठक तक बनी रहेगी. दरअसल ऐसे में प्रसाद को चयन बैठकों में अधिक सक्रिय रहने की सलाह दी जा सकती है. असल में समस्या प्रसाद से नहीं बल्कि शरणदीप सिंहि और देवांग गांधी से है. ऐसा इसलिए क्योंकि कइयों के मुताबिक उनका कुछ योगदान नहीं रहता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.