Loading...

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने दी सलाह, इस मैसेज से रहें बिलकुल दूर वरना खाली हो जाएगा बैंक खाता

0 11

आयकर विभाग ने देश के सभी टैक्सपेयर्स के लिए एक अलर्ट जारी किया है. जी हां, दरअसल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का कहना है कि आप किसी भी फर्जी टैक्स रिफंड मैसेज के बहकावे में बिल्कुल भी नहीं आएं. साथ ही, किसी भी सूरत में अपने बैंक अकाउंट, पिन, ओटीपी, पासवर्ड और फाइनेंशियल अकाउंट से संबंधित अन्य जानकारी किसी अनजान सोर्स के साथ शेयर न करें.

दरअसल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इस बारे में एसएमएस और ईमेल के जरिये सभी रजिस्टर्ड करदाताओं को जागरूक भी कर रहा है. यहां आपको बता दें कि पिछले लंबे समय से कई लोगों को फ्रॉड करने वालों के मैसेज आ रहे हैं. जिसमें बैंक डिटेल समेत कई सीक्रेट जानकारियां मांगी गई है. यही कारण है कि डिपार्टमेंट ने अपनी वेबसाइट पर सभी आईटीआर भरने वालों को इस तरह के फ्रॉड से बचने की सलाह दी है.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट नहीं मांगता ये जानकारियां

आपको बता दें कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक विभाग द्वारा कभी भी फोन, एसएमएस या ई-मेल के जरिये करदाताओं से डेबिट या क्रेडिट कार्ड के पिन, ओटीपी, पासवर्ड या ऐसी ही कोई जानकारी नहीं मांगी जाती है.

Loading...

इस तरह करें इसकी पहचान

आपकी जानकारी के लिए बता दें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने यह कहा है कि फिशिंग ई-मेल की पहचान सावधानी से करें. दरअसल इसके लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कुछ बातें बताई हैं.

बता दें कि जिस आईडी से मेल आया है, उसे ध्यान से देखें. दरअसल उसमें या तो गलत स्पेलिंग होगी या इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट से मिलता-जुलता कोई दूसरा नाम होगा.

भूलवश भी न करें ये काम

बता दें कि आप ऐसे किसी मेल के साथ अचैटमेंट को न खोलें.

इसके अलावा मेल में दिए गए किसी लिंक को क्लिक न करें.

हालांकि अगर आप धोखे से किसी लिंक को क्लिक कर दें तो उसमें कहीं भी अपने बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि की निजी जानकारी इंटर न करें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.