Loading...

भारतीय टीम की हार से निराश सचिन तेंदुलकर ने कुछ इस तरह निकाली अपनी भड़ास

0 1

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने न्यूजीलैंड के विरुद्ध सेमीफाइनल मैच में मिली हार के बाद निराशा जताई। उन्होंने धोनी और रविंद्र जडेजा की सराहना की और भारतीय टीम के मध्यक्रम बल्लेबाजों को हार का दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम जीतने के लिए हमेशा शीर्ष क्रम पर निर्भर नहीं रह सकती। न्यूजीलैंड से 18 रन से हारकर भारतीय टीम विश्व कप से बाहर हो गई।

सचिन तेंदुलकर ने भारतीय टीम की हार के बाद कहा- मैं निराश हूं, क्योंकि हमें बिना किसी संदेह के 240 रन का लक्ष्य हासिल करना था। स्कोर ज्यादा बड़ा नहीं था। न्यूजीलैंड ने शुरुआत में 3 विकेट हासिल करके अच्छी शुरुआत की। लेकिन हमें हमेशा अच्छी शुरुआत के लिए रोहित शर्मा या ठोस आधार तैयार करने के लिए विराट कोहली पर ही निर्भर नहीं रहना चाहिए। उनके साथ खेल रहे अन्य खिलाड़ियों को भी अपनी जिम्मेदारियां समझनी चाहिए।

भारतीय टीम के गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड को आठ विकेट पर 239 रन पर रोका था। इस टूर्नामेंट में पहली बार भारतीय टीम का शीर्ष क्रम फ्लॉप रहा और विराट कोहली की टीम 221 रन पर ढेर हो गई। लेकिन जब भारतीय टीम 92 रन पर अपने 6 विकेट गंवा चुकी थी और हार के नजदीक पहुंच गई तो धोनी और रविंद्र जडेजा ने सातवें विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी निभाई।

तेंदुलकर ने आगे कहा कि यह सही नहीं है। आप हर मैच में धोनी से मैच फिनिश करने की उम्मीद नहीं रख सकते। वह बार-बार ऐसा करते आए हैं। पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि भले ही धोनी और रविंद्र जडेजा मैच को फिनिश नहीं कर पाए, लेकिन उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया।

Loading...

हरभजन सिंह और रैना ने किया ये ट्वीट

हरभजन सिंह ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा- दिल टूट गया। न्यूजीलैंड को बधाई। बेहतरीन प्रदर्शन किया जडेजा। सुरेश रैना ने कहा कि लड़कों भाग्य ने साथ नहीं दिया। अच्छा खेले। टूर्नामेंट के दौरान अपने प्रदर्शन से आपने दिल जीते। न्यूजीलैंड को बधाई।

संजय मांजरेकर ने किया ट्वीट

संजय मांजरेकर ने कहा कि मेरी नजरों में भारत चैंपियन टीम से कम नहीं। सात मैच जीते और दो मैच हारे। अंतिम मैच काफी करीबी रहा। भारत ने अच्छा काम किया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.