Loading...

मोदी सरकार की है TikTok जैसे ऐप पर नजर, लग सकता है बैन

0 9

टिकटॉक ऐप से पैदा हो रहे विवादों पर मोदी सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी यानी कि आईटी मंत्रालय ने यह बयान दिया है कि वो टिकटॉक जैसे ऐप पर पूरी नजर रख रहा है। जी हां, दरअसल सरकार टिकटॉक ऐप में चल रही वीडियो सामग्री एवं उस सामग्री को लेकर छपी मीडिया रिपोर्ट से भी अच्छी तरह से वाकिफ है। दरअसल सरकार का मत है कि जरूरत पड़ने पर इस प्रकार के ऐप की सामग्री पर रोक लगाई जा सकती है और उसे बैन भी किया जा सकता है।

सरकार के पास है आपत्तिजनक सामग्री हटाने का अधिकार

दरअसल आईटी मंत्रालय का यह कहना है कि आईटी एक्ट, 2000 के प्रावधानों के मुताबिक टिकटॉक इंटरमीडिएरी का काम कर रहा है और आईटी एक्ट के तहत सरकार के पास आपत्तिजनक ऑनलाइन सामग्री को हटाने का अधिकार है।

बता दें कि आईटी एक्ट के मुताबिक ऑनलाइन सामग्री मुहैया कराने वाले किसी भी इंटरमीडिएरी की यह ड्यूटी है कि वह इस प्लेटफॉर्म पर वीडियो एवं अन्य सामग्री अपलोड करने वालों को प्रतिबंधित चीजों की अपलोडिंग से अवगत कराए।

Loading...

दरअसल टिकटॉक को भी ऐसा करना चाहिए। मालूम हो कि कानून के मुताबिक कोई भी वीडियो या सामग्री जो नुकसानदेह है, घृणा फैलाने वाला है, किसी धर्म, जाति को लेकर टिप्पणी करने वाला है या फिर कानून के दायरे से बाहर का है तो उसे अपलोड करने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। बता दें कि सरकार का कहना है कि इन चीजों की जांच की जाएगी और पर्याप्त कार्रवाई की जाएगी।

पहले भी विवाद में रहे हैं टिकटॉक के वीडियो

आपको बता दें कि टिकटॉक को लेकर पूछे गए सवाल पर संसद में सरकार ने जो जानकारी दी उसके अनुसार अगर सरकार या सरकारी एजेंसी या फिर कोर्ट की तरफ से गैर कानूनी वीडियो की जानकारी इन ऐप को दी जाती है तो उनसे यह उम्मीद की जाती है कि वे गैर कानूनी सामग्री को ऐप से हटा लेंगे।

यही नहीं इसके अलावा, आईटी एक्ट का सेक्शन 69ए सरकार को यह भी अधिकार देता है कि अगर सरकार को यह लगता है कि किसी के कंप्यूटर में उपलब्ध सामग्री से देश की संप्रभुता को खतरा है, देश की सुरक्षा को खतरा है या फिर बाहरी देशों के साथ संबंध को खतरा है तो सरकार किसी भी कंप्यूटर को अपने कब्जे में ले सकती है।

मालूम हो कि हाल ही में टिकटॉक पर चलने वाले कई वीडियो विवादित रहे हैं। दरअसल इस ऐप पर समाज को बांटने के लिए उकसाने वाले वीडियो खूब चल रहे हैं। बता दें कि इस प्रकार की खबरें मीडिया में आ चुकी हैं। टिकटॉक चीन की ऐप है और अकेले भारत में लगभग 20 करोड़ लोग इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.