Loading...

वर्ल्ड कप: रोहित या कोहली, नहीं बल्कि ये खिलाड़ी हैं टीम इंडिया की हार के जिम्मेदार

0 49

भारतीय टीम का विश्व कप 2019 में सफर खत्म हो चुका है। मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में भारतीय टीम न्यूजीलैंड से 18 रनों से हार गई और उसका तीसरी बार विश्व चैंपियन बनने का सपना भी चकनाचूर हो गया। भारतीय टीम के स्पिनर गेंदबाज हरभजन सिंह ने भारतीय टीम की हार के कारण बताए। उन्होंने कहा कि शिखर धवन और अंबाती रायडू जैसे बल्लेबाजों की जगह टीम में दिनेश कार्तिक और केएल राहुल को काफी उम्मीदों के साथ मौका दिया गया था। लेकिन दोनों ही बड़े मैच में पिच पर लहराती गेंदों का सामना नहीं कर सके। इन खिलाड़ियों को इतना तो सोचना चाहिए था कि आखिर इन्हें जिनकी जगह टीम में मौका मिला, उनमें भी कोई कमी नहीं थी।

हरभजन ने मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजी पर उठाए सवाल

हरभजन सिंह ने भारतीय टीम के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों को लेकर भी सवाल उठाए और कहा कि आपको हर बार मैच में शीर्ष क्रम के बल्लेबाज नहीं जिता सकते। अगर विराट कोहली और रोहित शर्मा बड़ा स्कोर नहीं कर पाए तो मिडिल ऑर्डर को जिम्मेदारी लेनी चाहिए थी। पांड्या 32 और दिनेश कार्तिक 6 रन बनाकर चले गए। अगर ये मैदान पर टिकते तो टीम इंडिया जीत जाती।

शिखर धवन के घायल होने को बताया बड़ा झटका

Loading...

हरभजन सिंह का मानना है कि भारतीय टीम के ओपनर शिखर धवन का घायल होना भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ी मुश्किल बना। अगर शिखर सेमीफाइनल में होते तो टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर इस तरह नहीं बिखरता। जब से गब्बर घायल हुए, उसी दिन से भारतीय टीम के ऊपर संकट मंडराने लगा।

मिचेल सैंटनर पड़े भारी

हरभजन सिंह ने कहा कि मिचेल सैंटनर भारतीय बल्लेबाजों पर हावी नजर आए। इस पिच पर ज्यादा टर्न देखने को नहीं मिला। लेकिन फिर भी उनके 6 ओवर में बल्लेबाज केवल 10 रन ही बना पाए। लेकिन रविंद्र जडेजा ने उनका डटकर सामना किया।

रविंद्र जडेजा के प्रदर्शन की तारीफ की

हरभजन सिंह ने ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा की खूब तारीफ की और कहा कि द्विपक्षीय सीरीज में एक बल्लेबाज कितने ही रन क्यों न बना ले, लेकिन उसकी सही पहचान तब होती है, जब वह बड़े टूर्नामेंट में रन बनाए। जडेजा ने 77 रन बनाकर यह साबित कर दिया कि वह बड़े मैच के खिलाड़ी है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.