Loading...

पोस्ट ऑफिस की इन योजनाओं में निवेश कर आसानी से आप भी बन सकते हैं लखपति

0 15

अगर आप भी उनमें से हैं जो न्यूनतम निवेश पर अधिकतम रिटर्न पाना चाहते हैं तो भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही ऐसी कई बचत योजनाएं हैं, जहां पैसा लगाना आपके लिए लाभकारी रहेगा। इनमें से अधिकांश योजनाएं डाकघरों में भी उपलब्ध है, जहां आप स्मॉल सेविंग स्कीम का फायदा उठा सकते हैं।

आपको बता दें कि स्मॉल सेविंग स्कीम के तहत ही सरकार ने बेटियों के लिए भी एक योजना जारी थी। जी हां, दरअसल सुकन्या समृद्धि नाम की यह योजना आज भी चल रही है और इसकी सबसे खास बात यह है कि इसमें जो रिटर्न मिलता है, उस पर सरकार किसी भी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लगाती है।

15 साल तक जमा करिए 1.50 लाख रुपये

बता दें कि इस स्कीम में बेटी के नाम पर 15 साल तक अधिकतम 1.50 लाख रुपये सालाना का निवेश करना होगा। बेटी के 18 और 21 साल होने पर आप पैसा निकाल सकेंगे। यह राशि बेटी की पढ़ाई या शादी में लाभकारी रहेगी।

Loading...

मिलेंगे 74 लाख रुपये

मालूम हो कि फिलहाल सुकन्या समृद्धि पर 8.1 % की ब्याज दर मिल रही है। अगर हम यह माने की इस योजना की ब्याज दर में किसी तरह का परिवर्तन नहीं होता है तो फिर बेटी के 21 साल पूरे होने पर उसे 74 लाख रुपये मिलेंगे। इस राशि पर किसी तरह का कोई टैक्स भी नहीं देना होगा।

बेटी की हो सकती है इतनी अधिकतम उम्र

बता दें कि अगर आपकी बेटी की उम्र 10 साल तक है तो आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट खोल सकते हैं। दरअसल इस निवेश पर इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट भी मिलती है।

अधिकतम 3 खाते खोल सकते हैं

मालूम हो कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आप एक लड़की के नाम से एक ही खाता खोल सकते हैं। हालांकि जिन घरों में दो बेटियां हैं या जुड़वा बच्चे हैं, उनके माता-पिता ज्यादा से ज्यादा 3 खाते खोल सकते हैं।

बता दें कि बेटी के 18 साल की उम्र होने पर अकाउंट में जमा 50% राशि को आप निकाल सकते हैं। खास बात यह है कि इस निकासी पर भी आपको किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं देना होगा। बता दें कि बेटी की शादी के अवसर पर आप बाकी बची राशि भी खाते से निकालकर करके इसको बंद कर सकते हैं।

कहां खुलवा सकते हैं खाता

आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना का खाता आप देश के किसी भी डाकघर या फिर बैंकों में खुलवा सकते हैं। दरअसल इसके लिए डाकघर और बैंक में जाकर आपको फॉर्म भरना होगा। बता दें कि फॉर्म भरने के बाद नकद, ड्राफ्ट या चेक की मदद से पैसा जमा करना होगा।

दरअसल इसके बाद खाता खुल जाएगा और आपको इस खाते की पासबुक भी मिल जाएगी। बता दें कि फिर जब भी आप खाते में पैसा जमा करें तो उसकी पासबुक में एंट्री जरूर करवा लें, ताकि आपको पता रहे कि कितना पैसा आपने जमा किया है।

इन डॉक्यूमेंट्स की पड़ेगी आवश्यकता

मालूम हो कि सुकन्या स्कीम में खाता खोलने के लिए आपको जिन डॉक्यूमेंट्स की आवश्यकता पड़ेगी, वे इस प्रकार हैं:

बेटी का जन्म प्रमाण पत्र

माता-पिता या अभिवावक का पते का प्रमाण (बिजली व फोन का बिल, आधार, एलआईसी पॉलिसी, गैस बिल)

माता-पिता या अभिभावक का पहचान पत्र (पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट)

1 हजार रुपये कम से कम होंगे जमा

आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना में लाभार्थी एक बार ही एक बेटी का खाता खुलवा सकता है। इसमें एक वर्ष में न्यूनतम 1 हजार रुपये और अधिकतर डेढ़ लाख रुपये जमा करवा सकते हैं। दरअसल सुकन्या समृद्धि योजना में लाभार्थी अब 250 रुपये में खाता खुलवा सकते हैं।

मालूम हो कि खाता खुलवाने की न्यूनतम राशि 250 रुपये होने के बाद इन खातों को खुलवाने के लिए अधिक आवेदन आ रहे हैं। दरअसल पूर्व में सुकन्या समृद्धि योजना में 1 हजार रुपये से खाता खुलता है। बता दें कि अब 250 रुपये से खाता खुलने के कारण गरीब परिवारों को भी इसका लाभ मिलेगा।

इस प्रकार खाते में रकम जमा होगी

खाते में रकम कैश, चेक, डिमांड ड्राफ्ट या किसी ऐसे इंस्ट्रूमेंट से भी जमा कराई जा सकती है, जिसे बैंक स्वीकार करता हो।

इसके लिए रकम जमा करने वाले का नाम और एकाउंट होल्डर का नाम लिखना जरूरी है।

रकम इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर के जरिए भी डाली जा सकती है।

इसके लिए संबंधित पोस्ट ऑफिस या बैंक में कोर बैंकिंग सिस्टम होना चाहिए।

अगर खाते में रकम चेक या ड्राफ्ट से चुकाई गयी तो रकम खाते में क्लियर होने के बाद उस पर ब्याज दिया जायेगा।

ई-ट्रांसफर के मामले में डिपॉजिट के दिन से यह गणना की जाएगी।

अन्य छोटी बचत योजनाओं की यह है ब्याज दर

मालूम हो कि 2019-20 की दूसरी तिमाही के लिए जारी वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के मुताबिक पीपीएफ और एनएससी में सालाना ब्याज 8 % की जगह 7.9% होगी। वहीं, 113 महीने में परिपक्व होने पर किसान विकास पत्र 7.6 % ब्याज मिलेगा। बता दें कि अभी 112 महीने में परिपक्व होने पर 7.7 % ब्याज मिलता है।

आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याजदर 8.5 % की जगह 8.4 % होगी। वहीं, 1 से 3 साल की सावधि जमा पर 6.9 % तिमाही ब्याज मिलेगा। जबकि 5 वर्ष की जमा पर ब्याजदर 7.7 % होगी।

वहीं रिकरिंग डिपॉजिट पर मौजूदा 7.3 % की जगह 7.2 % ब्याज मिलेगा। वरिष्ठ नागरिकों के लिए 5 योजनाओं पर ब्याज दर 8.7 % से घटाकर 8.6 % कर दिया गया है।

पीपीएफ में मिलेंगे 10 लाख रुपये

पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी कि PPF में हर महीने 3000 रुपये मतलब रोज के 100 रुपये निवेश कर आप 15 सालों में 10 लाख रुपये जमा कर सकते हैं। दरअसल अगर आप हर रोज 100 रुपये निवेश करते हैं तो आपकी एक महीने की निवेश की रकम 3 हजार रुपये हो जाएंगी। यानी एक साल में आपको 36,000 रुपये निवेश करने होंगे।

ब्याज से करें 2880 रुपये की कमाई

आपको बता दें कि इस स्कीम के तहत 36000 रुपये पर आपको 2880 रुपये ब्याज के तौर पर मिलेंगे। ब्याज को जोड़ने के बाद एक साल में आपके खाते में 38880 रुपये इकट्ठे हो जाएंगे। इसी प्रकार आप दूसरे साल भी 36000 रुपये जमा करेंगे और आपको खाते में पहले से जमा 38880 और 36000 पर ब्याज मिलेगा।

इसके बाद दूसरे साल के अंत में 5990 रुपये के ब्याज के बाद आपके खाते में 80870 रुपये जमा हो जाएंगे। बता दें कि इस स्कीम में आपको न्यूनतम 15 साल तक निवेश करना होता है और इसी प्रकार 15वें साल के अंत में आप 10,55,676 रुपये जमा कर सकेंगे।

क्या है लॉक-इन पीरियड

बता दें कि ब्याज दरों में बदलाव के कारण इस राशि में कमी या वृद्धि हो सकती है। हालांकि यह योजना आपके लिए बेहद लाभदायक साबित होगी। बता दें कि वर्तमान समय में इस पर 7.9% सालाना की दर से ब्याज मिल रहा है। आपको बता दें कि पीपीएफ में कम से कम 15 सालों तक निवेश करना पड़ता है। दरअसल इसकी सबसे खास बात ये है कि इसकी पूरी राशि टैक्स मुक्त होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.