Loading...

3 लाख में शुरू हो जाएगा ये फूड प्रोसेसिंग बिजनेस, होगी 1.5 लाख तक की कमाई, मोदी सरकार करेगी मदद

0 3

आजकल देश में फूड प्रॉसेसिंग बिजनेस तेजी से ग्रोथ कर रहा है। दिन प्रतिदिन फूड प्रॉसेसिंग बिजनेस का मार्केट बढ़ता जा रहा है। एक्‍सपर्ट की मानें तो फूड प्रोसेसिंग बिजनेस की ग्रोथ लगातार जारी रहेगी। ऐसे में, यदि आप भी नया बिजनेस शुरू करने को सोच रहे हैं तो फूड प्रॉसेसिंग में हाथ आजमा सकते हैं।

सिर्फ इतना ही नहीं, फूड प्रॉसेसिंग जैसे आइसक्रीम पार्लर, पोटेटो चिप्‍स वफर मैन्‍युफैक्‍चरिंग, पापड़ मैन्‍युफैक्‍चरिंग, बेकरी प्रोडक्‍ट्स यूनिट और मुरमुरा मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो केंद्र सरकार की ओर से प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत आपको लोन भी आसानी से मिल जाएगा।

आपको बता दें कि इस स्कीम के तहत आपको कुल प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट का 90 % लोन मिल जाता है और 30 % तक सब्सिडी भी मिलती है। दरअसल आज हम आपको उन फूड प्रॉसेसिंग बिजनेस के बारे में बता रहे हैं, जिनमें लगभग 3 लाख रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट होता है।

Loading...

बेकरी बिज़नेस

बेकरी प्रोडक्‍ट्स सदाबहार बिज़नेस आइडिया है। जी हां, दरअसल मिनिस्‍ट्री ऑफ माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसएमई) द्वारा तैयार किए गए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के मुताबिक, 2 लाख 86 हजार रुपए की प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट से बेकरी प्रोडक्‍ट्स की यूनिट लगाई जा सकती है।

बता दें कि इसके लिए एक ओवन, भट्टी और अन्‍य इक्विपमेंट पर लगभग 75 हजार रुपए और 500 वर्ग फुट का शेड पर लगभग 1.25 लाख रुपए का खर्च आएगा। वहीं, वर्किंग कैपिटल पर लगभग 86 हजार रुपए का खर्च होगा।

मालूम हो कि इसके बाद आपको लगभग 6 लाख रुपए का रॉ-मैटिरियल लेना होगा, जिससे आप लगभग 10 लाख रुपए के प्रोडक्‍ट्स तैयार कर सकते हैं। इस तरह ये प्रोडक्‍ट्स बिकने के बाद आपको लगभग लाख 1.37 लाख रुपए की इकनम होगी।

चिप्स मेकिंग बिजनेस

आपको बता दें कि भारत में पिछले कुछ सालों में आलू चिप्‍स या वफर्स की मार्केट बड़ी तेजी से बढ़ी है। ऐसे में अगर आप भी अगर आलू चिप्‍स या वफर्स बनाने की यूनिट शुरू करना चाहते हैं तो बता दें कि आप केवल 3 लाख 38 हजार रुपए में यह यूनिट लगा सकते हैं।

इसके लिए आपको बॉयलर, स्‍टीम जेक्‍टेड केटली, पोटैटो पीलिंग मशीन, पाउच सीलिंग मशीन, फ्राइंग पेन पर लगभग 1.50 लाख रुपए खर्च करना होगा। मालूम हो कि वर्किंग कैपिटल पर लगभग 88 हजार 500 रुपए खर्च होंगे, जबकि शेड बनाने पर 1 लाख रुपया खर्च होगा।

बता दें कि आपको लगभग 1 लाख रुपए का रॉ-मैटिरियल लेना होगा और अन्‍य खर्च के बाद आप लगभग 118 क्विटंल आलू चिप्‍स व वफर्स तैयार कर सकते हैं। इसे आप लगभग 4 लाख 50 हजार रुपए में बेच सकते हैं और लगभग 1 लाख रुपए की बचत कर सकते हैं।

आइसक्रीम कोन बिजनेस

मालूम हो कि आप लगभग 3 लाख 10 हजार रुपए की लागत से आइसक्रीम कोन बनाने की यूनिट लगा सकते हैं। मिनिस्‍ट्री ऑफ एमएसएमई की एक रिपोर्ट के मुताबिक आपको लगभग डेढ़ लाख रुपए की लागत से शेक मशीन, थिक शेक मशीन, स्‍लश मशीन, फ्रीजर, वेसल्‍स, यूटेनसिल्‍स आदि पर लगभग डेढ़ लाख, टिन शेड पर एक लाख और वर्किंग कैपिटल पर लगभग 60 हजार रुपए का खर्च आएगा।

जबकि 40 हजार रुपए का रॉ-मैटिरियल्‍स पर खर्च आएगा। बता दें कि इस तरह आपका कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन 2 लाख 29 हजार रुपए होगा तो आपकी कुल सेल्‍स 3 लाख 90 हजार रुपए होगी। इस प्रकार आप इस बिजनेस से लगभग 1 लाख 60 हजार रुपए की इनकम कर सकेंगे।

फ़ास्ट फूड बिजनेस

आपको बता दें कि फास्‍ट फूड के मामले में मुरमुरा एक बड़ा पसंदीदा प्रोडक्‍ट है। इसकी कुल प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट 3.50 लाख रुपए है और कॉस्‍ट ऑफ प्रोडक्‍शन 4 लाख 43 हजार रुपए होगा, जबकि कुल सेल्‍स 5 लाख 53 हजार रुपए होगी। बता दें कि इस तरह आप लगभग 1लाख 10 हजार रुपए बचा सकते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.