Loading...

गांगुली और सिद्धू पर जब इंग्लैंड में तान दी गई थी बंदूक, गांगुली की समझदारी से बची थी दोनों की जान

0 6

1996 में भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी। इस दौरे पर भारतीय टीम ने टेस्ट सीरीज खेली, जिससे सौरव गांगुली ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की। तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच में सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने डेब्यू किया।

गांगुली ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में 131 रन की पारी खेली और 3 विकेट हासिल किए। जबकि राहुल द्रविड़ ने 95 रन बनाए। दूसरा टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। बता दे कि सौरव गांगुली ने अपने दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में 136 रन बनाए तो दूसरी पारी में उन्होंने 48 रन बना दिए। इन दोनों पारियों के बाद सौरव गांगुली भारतीय टीम के स्टार बन गए।

इंग्लैंड में सौरव और नवजोत सिंह सिद्धू के साथ हुई थी अजीबो-गरीब घटना

Loading...

बता दें कि इंग्लैंड के साथ पहला टेस्ट मैच खेलने के बाद सौरव गांगुली और नवजोत सिंह सिद्धू इंग्लैंड घूमने निकले। इंग्लैंड में दोनों ने लंदन ट्यूब में यात्रा की। इसी दौरान कुछ नशेड़ी लड़के मेट्रो में चढ़ गए और गांगुली और सिद्धू की तरफ अजीब इशारे करने लगे। सिद्धू को ऐसा लगा कि वह लड़के उन्हें भारतीय टीम की हार के लिए चिढ़ा रहे हैं।

एक शख्स ने बीयर की बोतल उठाकर सिद्धू को दे मारी। इसके बाद सिद्धू भड़क गए और उन लड़कों से भिड़ गए। दोनों के बीच हाथापाई होने लगी। इसके बाद अगला स्टेशन आया और ट्रेन रुक गई, जिसके बाद लड़के नीचे उतर गए। लेकिन इसी बीच उनमें से एक युवक फिर से मेट्रो में चढ़ा और उसने सिद्धू के सिर पर बंदूक तान दी। सिद्धू इससे घबराए नहीं और उसकी ओर झपट पड़े। इसके बाद सौरव गांगुली ने सिद्धू को रोका और उनसे कहा कि तुम इनसे मत उलझो, वह नशे में है और गोली चला देगा। इसके बाद दोनों ट्रेन के फर्श पर लेट गए और ट्रेन चलने लगी, जिसके बाद वो युवक ट्रेन से उतर कर चला गया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.