Loading...

ससुराल के लिए साक्षात् लक्ष्मी होती हैं वो लड़कियां जिनकी हथेली पर बने होते हैं ऐसे निशान

0 24

जिस तरीके से राशि और नाम के पहले अक्षर के अनुसार लव लाइफ के बारे में पता लगाया जा सकता है उसी तरह हस्तरेखा से भी आप यानी की हाथ की लकीरों के द्वारा भी आप अपनी जिंदगी के बारे में बहुत सी बातों को जान सकते हैं जी हां हाथों पर बने कुछ चिन्ह या फिर कुछ निशान आपकी लव लाइफ से जुड़े कई सारे सीक्रेट्स को खोल सकता है समुद्र शास्त्र के मुताबिक जिन महिलाओं के हाथ पर इस तरीके के निशान पाए जाते हैं वह अपने ससुराल के लिए काफी ज्यादा भाग्यशाली मानी जाती हैं तो चलिए जानते हैं कि किस तरीके के निशान वाली लड़कियां अपने ससुराल के लिए लकी साबित होती हैं।

हाथ पर बना कमल या मछली का आकार

वैसे तो हथेली पर कमल या मछली का आकार का चिन्ह बहुत ही कम स्त्रियों के हाथ में पाया जाता है लेकिन जिन महिलाओं के हाथ में भी यह चंद पाए जाते हैं जिंदगी भर सुख का अनुभव करती हैं और अपने ससुराल वालों के लिए भी काफी ज्यादा भाग्यशाली मानी जाती हैं।

हथेली पर बना ध्वजा का चिन्ह

Loading...

अगर किसी महिला के हाथ में इस तरीके का चिन्ह बना होता है तो वह भी बेहद भाग्यशाली मानी जाती है ऐसी स्त्रियों का भाग्य ना सिर्फ उनके साथ होता है बल्कि उनके घर वालों के साथ भी वह हमेशा रहता है दरअसल बता दें जिसके हाथ में पाया जाता है उनके जीवनसाथी आने वाले समय में जल्दी ही आसानी से ऊचाइयों पर बैठ जाते हैं।

दाहिने हाथ पर बना तराजू का निशान

जिस भी महिला के हाथ में तराजू के निशान जैसी अनोखी आकृति पाई जाती है वह स्त्रियां काफी ज्यादा लकी मानी जाती है ऐसी स्त्रियों के पति का ज्यादातर बड़ा बिजनेस होता हैं।

हथेली पर बना शंख का निशान

जिस भी महिला की हथेली पर शंख या चक्र का निशान बना होता है उसका पुत्र बड़ा होकर किसी अधिकारी पद पर होता है या फिर वह राजाओं जैसी जिंदगी जीता है हालांकि ऐसा निशान बहुत ही कम महिलाओं के हाथ पर देखने को मिलता हैं।

हथेली पर बना धनुष का निशान

जिसमें महिला की हथेली के बीचो-बीच त्रिभुज धनुष का निशान बनता है वह महिला घर के सारे सुख सुविधाओं को प्राप्त करती है दरअसल ऐसी महिलाएं अपना अक्सर अच्छा भाग्य को लेकर पैदा होती है उनके घर की भी तरक्की होती है उनके पति भी काफी लंबी ऊंचाइयों को छूते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.