Loading...

Budget 2019: कहां से आता है सरकार के पास पैसा और कहां चला जाता है?

0 20

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में शुक्रवार को संसद में मोदी सरकार 2.0 का पहला आम बजट पेश कर दिया. इस बजट को पेश करते हुए सरकार की आमदनी और खर्च का ब्यौरा भी पेश किया. आपको बता दें कि इसके मुताबिक इस समय सरकार की आय का सबसे बड़ा स्रोत कॉरपोरेट टैक्स है, जबकि खर्च के रूप में सबसे बड़ी हिस्सेदारी केंद्र द्वारा राज्यों को दी जाने वाली धनराशि है. मालूम हो कि ये धनराशि टैक्स और ड्यूटी में राज्यों की हिस्सेदारी के रूप में दी जाती है.

रुपये कहां से आता है

बता दें कि बजट दस्तावेज के मुताबिक केंद्र सरकार की कुल आय में कॉरपोरेट टैक्स, जीएसटी, इनकम टैक्स और उधारी की प्रमुख हिस्सेदारी है. दरअसल केंद्र अपनी कुल आय का 21 % कॉरपोरेट टैक्स से हासिल करता है. इसके बाद 20 % राशि उसे उधारी के जरिए मिलती है.

जबकि आयकर की हिस्सेदारी 16 % है. वहीं जीएसटी से 19 % धनराशि मिलती है. इसके अलावा गैर-कर आय से 9 %, कस्टम से 4 %, केंद्रीय एक्साइज ड्यूटी से 8 % और गैर-ऋण पूंजीगत प्राप्तियों से 3 % की आय होती है.

Loading...

जानिए आखिर रुपया जाता कहां है

मालूम हो कि जहां तक केंद्र सरकार के खर्च की बात है तो सबसे अधिक हिस्सेदारी राज्यों की है. जी हां, दरअसल केंद्र अपनी कुल आय का 23 % हिस्सा टैक्स और ड्यूटी में हिस्सेदारी के रूप में राज्यों को देता है. इसके बाद कुल आय का 18 % हिस्सा सरकार लिए गए कर्ज का ब्याज चुकाने में खर्च कर देती है.

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की योजनाओं में 13 % राशि खर्च की जाती है. जबकि केंद्र द्वारा प्रायोजित योजनाओं पर 9 % पैसा खर्च किया जाता है. यही नहीं, इसके अलावा सब्सिडी पर 8 %, रक्षा पर 9 % और पेंशन पर 5 % राशि खर्च की जाती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.