Loading...

इस वजह से बेहद खास है महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले, इनमें है यॉर्कर पर हेलीकॉप्टर शॉट लगाने का तोड़

0 15

पिछले कुछ महीनों से महेंद्र सिंह धोनी 3 अलग-अलग बल्लों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इन दिनों वह SS, SG और BAS कंपनी के बल्ले से खेल रहे हैं। आइए जानते हैं इनसे जुड़ी कुछ खास बातें।

जब धोनी क्रीज पर बल्लेबाजी करने आते हैं तो उनके पास किसी कंपनी का बल्ला होता है और जब वह आखिरी ओवरों में बल्लेबाजी करते हैं तो उनके पास किसी और कंपनी का बल्ला होता है। कहा जा रहा है कि धोनी अपने स्‍पॉन्‍सर्स की मदद करने के लिए बल्ला बदल रहे हैं जिन्होंने धोनी के शुरुआती करियर में बहुत सहायता की थी। इस तरह से धोनी स्पॉन्सर्स का एहसान चुका रहे हैं।

महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को विश्व कप 2011 का खिताब जीताया था। उन्होंने फाइनल मुकाबले में छक्का लगाकर भारत को जीत दिलाई थी। उस वक्त धोनी का बल्ला 1.1 करोड़ रुपए में बेचा गया था जो क्रिकेट इतिहास का सबसे महंगा बल्ला माना जाता है।

Loading...

धोनी नीचे देख कर्व किए हुए बल्ले से खेलते हैं। यही कारण है कि उनको यॉर्कर गेंद खेलने में ज्यादा परेशानी नहीं होती। यॉर्कर गेंद इस तरह के बल्ले को हानि नहीं पहुंचा पाती।

बहुत ही कम लोग इस बारे में जानते होंगे कि महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले का वजन कितना है। बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी लगभग 1250 से 1270 ग्राम के बल्ले से ही खेलते हैं।

मैथ्यू हेडन बहुत ही अजीबोगरीब बल्ले का प्रयोग करते थे जिसकी वजह से वे खूब सुर्खियों में रहे। वह मंगूज बल्ले का प्रयोग करते थे। उसका हैंडल बहुत लंबा होता था। लंबे हैंडल का होने की वजह से बल्ले का वजन निचले हिस्से में एकत्रित हो जाता था। इस तरह से वह बड़े शॉट लगाते थे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.